Delhi Metro ने अपने 1200 ट्रेन चालकों और अन्य संबंधित कर्मचारियों के लिए एक बहुत जरूरी कदम उठाया है। आपको बता दें दिल्ली मेट्रो द्वारा CMS यानि कि स्वदेशी चालक दल प्रबंधन प्रणाली सॉफ्टवेयर लॉन्च किया गया है।

Delhi Metro का ये कदम कर्मचारियों को दिलाएगा फायदा, सब कुछ होगा आधुनिक

Delhi Metro ने अपने 1200 ट्रेन चालकों और अन्य संबंधित कर्मचारियों के लिए एक बहुत जरूरी कदम उठाया है। आपको बता दें दिल्ली मेट्रो द्वारा CMS यानि कि स्वदेशी चालक दल प्रबंधन प्रणाली सॉफ्टवेयर लॉन्च किया गया है। यह मॉडर्न  सॉफ्टवेयर न केवल समय बचाएगा, बल्कि पर्यावरण की रक्षा में भी अहम भूमिका निभाएगा। साथ ही इससे सालाना पांच लाख पन्नों की बचत हो सकेगी।

पांच लाख पन्नों की बचत

 

DMRC यानी की दिल्ली मेट्रो रेल निगम के प्रबंध निदेशक विकास कुमार ने यमुना बैंक मेट्रो स्टेशन पर लॉन्च किया इस वक़्त वहां निगम के कई वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थें। इसी दौरान डीएमआरसी ने एक विज्ञप्ति में बताया कि अब कागजी काम खत्म होंगे और समय भी बचेगा इससे पांच लाख पन्नो की भी बजत होगी जो कि 417 पेड़ों के प्रोटेक्ट करने के बराबर है।

मेट्रो कर्मचारियों को मिलेंगे ये फायदे:

 

इस विज्ञप्ति में यह कहा गया कि सीएमएस, एक मॉडर्न आटोमेटिक सॉफ्टवेयर है, इसके जरिये आने वाले समय में ट्रेन चालकों के कार्यों को और भी व्यवस्थित किया जा सकेगा। इसके जरिये अब ट्रेन चालक अपनी ड्यूटी पर आने और जाने के समय में डिजिटल रूप से अपने सिग्नेचर कर सकते हैं, वह बायोमीट्रिक के जरिये भी अपनी अटेंडेंस लगवा सकेंगे और अपनी लाइव फोटो खींच सकते हैं। यह सॉफ्टवेयर दिल्ली मेट्रो के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है और आने वाले समय में इसके सकारात्मक प्रभाव भी देखने को मिलेंगे।

इस विज्ञप्ति में यह कहा गया है कि इसमें विभिन्न प्रक्रियाओं जैसे रोस्टर ड्यूटी, छुट्टी के लिए एप्लिकेशन, लाइन में खराबी, कर्मचारियों के दावे, शिकायतें और छुट्टी शेड्यूलिंग को इलेक्ट्रॉनिक प्रारूप में बदल देगी। ‘‘ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से संचालित सीएमएस को वेबसाइट, कियोस्क और मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से इस्तेमाल किया जा सकता है।”

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *