Noida News: नॉएडा और ग्रेनो प्राधिकरण के मामले में किसानों को अपनी ज़मीन की लीज़ और शिफ्टिंग के सिलसिले में अब किसी की अनुमति लेने की कोई जरूरत नहीं है।

Noida News: अब लीजबैक और शिफ्टिंग के मामलों में नहीं लेनी पड़ेगी किसी की परमिशन, आया नया अपडेट

Noida News: नॉएडा और ग्रेनो प्राधिकरण के मामले में किसानों को अपनी ज़मीन की लीज़ और शिफ्टिंग के सिलसिले में अब किसी की अनुमति लेने की कोई जरूरत नहीं है। इसके लिए यमुना प्राधिकरण में एक तीन सदस्यीय कमेटी की स्थापना की गई है, जिसमें इस प्राधिकरण के एक-एक एसीईओ सदस्य शामिल उपस्थित होंगे। इसका मुद्दा 12 मार्च को हुई बैठक यमुना प्राधिकरण की बोर्ड में रखा गया था, जिसमें इसे मंजूरी मिल गई है। अब अगली बोर्ड की बैठक में इस प्रस्ताव को पास कर दिया जाएगा। इसकी वक्ष से अब किसानों को अपनी जमीन के लीजबैक और शिफ्टिंग के मामलों को हल करने में आसानी रहेगी।

नहीं लेनी पड़ेगी एसडीएम की अनुमति:

ग्रेनो और यमुना प्राधिकरण में लोगो की ज़मीन को लीज़ लेने और उसे अन्य जगह पर शिफ्ट करने के कुछ नियम हैं। इसकी वजह से किसानों को अक्सर कई समस्याओ का सामना करना पड़ता हैं। लेकिन अब से उन्हें एसडीएम से अनुमति लेने की कोई ज़रूरत नहीं होगी। इसके लिए एक तीन सदस्य की कमेटी बनाई गई है, जो लीजबैक और शिफ्टिंग के मामलों को देखेगी । यह कमेटी नियम कुछ बनाएगी, जो आने वाले बोर्ड की बैठक में प्रस्तुत की जाएगी।

होगा किसानों को लाभ:

इस फैसले की वजह से नोएडा, ग्रेनो, और यमुना प्राधिकरणों के 2500 से भी ज्यादा किसानों को लाभ होगा। उन्हें अब बेवजह अपनी ज़मीन के मामलो को लेकर इधर-उधर भटकने की आवश्यकता नहीं होगी।

ग्रेनो और यमुना प्राधिकरणों में कई मामलों में एसडीएम के निर्देश से बचा जाता है, मगर उससे किसानों के हक की रक्षा नहीं होती। मगर अब इसका नियमों के अनुसार कुछ कदम उठाए गए है, ताकि किसानों को अपनी जमीन के मामलों को लेकर समस्याओं का सामना न करनापड़े

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *