IGL Pipeline Blast: दिल्ली में नाले की खुदाई के दौरान आईजीएल की पाइपलाइन में धमाके के साथ आग लगने की वजह से दो मजदूर आग की चपेट में आ गए।

IGL Pipeline Blast: दिल्ली में पाइपलाइन खुदाई के वक़्त धमाके से लगी आग, गड्ढे में पड़ा रहा मजदूर का शव

IGL Pipeline Blast: दिल्ली में नाले की खुदाई के दौरान आईजीएल की पाइपलाइन में धमाके के साथ आग लगने की वजह से दो मजदूर आग की चपेट में आ गए। इनमें से एक मजदूर की मौके पर ही मौत हो गई और उसका शव बहुत देर तक गड्ढे में पड़ा रहा। काफी देर बाद आग पर काबू पा लेने के बाद शव को बाहर निकाला गया।

ये था पूरा मामला:

बुराड़ी स्थित प्रदीप बिहार इब्राहिमपुर में एक नाले की खुदाई के दौरान पाइपलाइन में अचानक आग लग गई, जिसमें दो मजदूर आग की चपेट में आ गए। 42 वर्षीय राजकुमार को हादसे की जगह से निकालकर अस्पताल भेजा गया, डॉक्टर का कहना है कि उसकी हालत नाजुक है। वहीं हादसे में 35 वर्ष के प्रवीण कुमार की मौके पर ही मौत हो गई, उसका शव काफी देर तक गड्ढे में बढ़ा रहा । आग पर पूरी तरह काबू पा लेने के बाद शव को गड्ढे से बाहर निकाला गया । बुराड़ी थाना पुलिस ने इस हादसे को किसी की लापरवाही मानते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है।

पाइपलाइन नीचे करने का चल रहा था काम:

पुलिस अधिकारी मनोज कुमार मीणा ने बताया है कि हादसा शनिवार की रात को करीब 11:00 हुआ। यहां आईजीएल की पाइपलाइन का कार्य चालू था और वहीं पर पीडब्ल्यूडी प्रदीप विहार के सोसाइटी के गेट पर भी नाला और पुलिया बनने का काम चल रहा था, जहां से आईजीएल की पाइपलाइन गुजर रही है। पीडब्ल्यूडी ने आईजीएल से अनुरोध किया की पाइपलाइन को थोड़ा नीचे करवा दें।
इसलिए ठेकेदार कुछ मजदूरों से गड्ढा खुदवा रहा था , तभी पाइपलाइन अचानक से फट गई और धमाके के बाद आग लग गई। इसमें दो मजदूर राजकुमार और प्रवीण आग की चपेट में आ गए। हादसा लगने के काफी देर बाद तक भी हादसे पर काबू नहीं पाया गया और न ही गैस की सप्लाई बंद की गई। यह आईजीएल की लापरवाही का नतीजा माना जा रहा है । करीब डेढ़ घंटे बाद गैस की सप्लाई बंद की गई । उसके बाद मरम्मत का कार्य पूरा हुआ । हादसे में प्रवीण की मौके पर ही मौत हो गई और राजकुमार बुरी तरह से घायल हो गया।

अचानक से हुआ दिल दहला देने वाला धमाका:

अचानक पाइपलाइन फट गई और धमाके के बाद आग लग गई। इससे राजकुमार और प्रवीन उसकी चपेट में आ गए। वहीं, दमकल व पुलिस का आरोप है कि आईजीएल के कंट्रोल रूम में बार-बार सूचना देने के बावजूद काफी देर तक गैस की सप्लाई बंद नहीं की गई। करीब डेढ़ घंटे बाद गैस की सप्लाई को बंद कर मरम्मत का काम हुआ। हादसे में प्रवीन की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि राजकुमार बुरी तरह झुलस गया।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *