Haryana News: तेज रफ्तार में लिफ्ट के नीचे गिरने से बुजुर्ग दंपति बुरी तरह से डर गई और घायल हो गए। बुजुर्ग महिला ने अपने बयान में ग्लोबल मेंटेनेंस कार्यालय से इस बात की शिकायत दर्ज की है।

Haryana News: फरीदाबाद में लिफ्ट आ धमकी ज़मीन पर, बूढ़े दंपति हुए घायल, शिकायत हुई दर्ज

Haryana News: तेज रफ्तार में लिफ्ट के नीचे गिरने से बुजुर्ग दंपति बुरी तरह से डर गई और घायल हो गए। बुजुर्ग महिला ने अपने बयान में ग्लोबल मेंटेनेंस कार्यालय से इस बात की शिकायत दर्ज की है।

फरीदाबाद में एक लिफ्ट के नीचे गिरने की वजह से एक बुजुर्ग दंपती घायल हो गई ऐसी खबर आई है। ऐसा बताया जा रहा है कि बल्लभगढ़ के सेक्टर 70 स्थित रॉयल हेरिटेज के टावर टी 8 की लिफ्ट 12वीं मंजिल से तेज रफ्तार से नीचे आकर गिर गई। जिसमें बुजुर्ग दंपति मौजूद थे जो काफी घायल हुए हैं। दंपति के पीठ और घुटनों पर चोट आई है। इस हादसे के बाद महिला ने ग्लोबल मेंटेनेंस कार्यालय में इस बात की शिकायत दी है। उन्होंने पूछा है कि इस घटना और यहां पर रहने वाले नहीं लोगो की सुरक्षा की जिम्मेदारी कौन लेगा।

सेक्टर 70 स्थित रॉयल हेरिटेज में करीब 1400 फ्लैट है, जिन में लगभग 5000 लोग रहते हैं। गुरुवार सुबह टावर नंबर टी 8 के फ्लैट नंबर 1204 में रहने वाले गीत कुकरेजा( 70 वर्षीय )अपने पति के साथ लिफ्ट में जा रही थी। उनका कहना है की लिफ्ट बंद होने के बाद लिफ्ट अचानक से बेकाबू हो गई और तेज रफ्तार से जमीन पर गिर गई । उनका आरोप है कि हादसे में दंपति की पीठ और घुटनों पर चोट आई है और हादसे से दंपति बहुत ही अधिक घबरा गए हैं । लिफ्ट गिरने की आवाज सुनकर सोसाइटी के लोग मौके पर एकत्रित हो गए और जैसे तैसे करके दंपति को लिफ्ट से बाहर निकाला और अस्पताल लेकर गए । इस घटना के बाद गीता कुकरेजा ने ग्लोबल मेंटेनेंस एजेंसी के कार्यालय में शिकायत दर्ज करवाई है और आरोप लगाया है कि यहां के निवासी सुरक्षित नहीं है तथा लिफ्ट को सही करने की मांग की गई है और सुरक्षा पर ध्यान देने के लिए भी मांग की गई है।

यही के दूसरे टावर में भी हुआ हादसा:

यहीं टी 12 टावर में रहने वाले शैलेंद्र गुप्ता ने भी शिकायत की है कि उनका फ्लैट आठवीं मंजिल पर है। वह लिफ्ट से जा रहे थे तब लिफ्ट पांचवी मंजिल तक ठीक चल रही थी और उसके बाद लिफ्ट में कंपन शुरू हो गया । 2 से 3 मिनट के बाद कंपन खत्म हुआ और लिफ्ट दोबारा से चलनी शुरू हुई।

बताया गया है के इस तरह के हादसे रोज़ घटित होते हैं –

फरीदाबाद और शहर के आस पास के सेक्टर में 50 से ज्यादा सोसाइटी है। जिनमें करीब एक लाख से ज्यादा लोग रहते हैं । एक सोसाइटी में 10 से 20 टावर है और करीब 20 से 50 लिफ्ट है। लोगों की मानी जाए तो अधिकांश लिफ्ट में खराबी है। कई बार लिफ्ट चलते-चलते बंद हो जाती है जिस वजह से लोगों को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ता है। लोगों के अनुसार लिफ्ट में आपात स्थिति से निपटने के लिए अलार्म और इंटरकॉम होना चाहिए ताकि लिफ्ट में फंसे लोगों को अधिक मुसीबत का सामना न करना पड़े और वह किसी तक सूचना पहुंचा सके। लिफ्ट के अंदर भी कैमरे होने चाहिए ताकि सुरक्षा व्यवस्था को यह पता चल सके की लिफ्ट के अंदर कोई मुसीबत में है। लिफ्ट के नीचे और ऊपरी तलों पर सिक्योरिटी गार्ड होना चाहिए। हर महीने लिफ्ट की पूर्ण जांच करवाई जानी चाहिए ताकि पता चल सके उसमें कोई तकनीकी खराबी है या नहीं। समय-समय पर लिफ्ट के सर्विस करवाते रहना चाहिए। हर सोसाइटी में सामान्य लिफ्ट और सर्विस लिफ्ट अलग-अलग होनी चाहिए।

पिछले कुछ सालों में ऐसे ही हुए हादसों की एक रिपोर्ट
17 मई 2023 को फरीदाबाद डिस्कवरी पार्क सोसाइटी में लिफ्ट नीचे धसने से एक व्यक्ति घायल हो गया था।

19 अगस्त 2023 को सेक्टर 86 स्थित ओमेक्स सोसाइटी में 2 घंटे तक 8 साल का बच्चा लिफ्ट में फंस गया था।

15 सितंबर 2023 को KLJ सोसाइटी की लिफ्ट में एक बुजुर्ग सहित दो बच्चे फंस गए थे और उन्हें बड़ी मुश्किल से बाहर निकाला गया था।

हाल ही में 31 जनवरी 2024 को सेक्टर 45 स्थित सर्वोम होम्स सोसाइटी में लिफ्ट के नीचे गिरने की वजह से दो महिलाओं के साथ एक बच्ची घायल हो गई थी।

इस तरह की कई घटनाएं पिछले सालों में देखने को मिली है। जिससे यह साफ पता चलता है कि सोसाइटी में आमजन की सुरक्षा को लेकर काफी लापरवाही हो रही है, जिसके लिए सोसाइटी में मेंटेनेंस ऑफिस बनाए गए हैं जो यह देखरेख करते हैं कि सोसाइटी में किसी तरह की कोई समस्या उत्पन्न ना हो । खास कर लिफ्ट में तकनीकी समस्या ना हो ताकि लोगों को किसी तरह की को समस्या का सामना न करना पड़े और निरंतर लिफ्ट और से हो रही घटनाएं कम हो सके।

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *