Faridabad News: नूंह पुलिस ने प्रतिबिंब ऐप की सहायता से कई साइबर अपराधियों को अपने शिकंजे में कस लिया है ।प्रतिबिंब ऐप एक साल पहले साइबर क्राइम करने वाले आरोपियों को पकड़ने के लिए बनाया गया था

Faridabad News: नूह पुलिस के हत्थे चढ़े 42 साइबर ठग, प्रतिबिंब ऐप से मिला सुराग

Faridabad News: नूंह पुलिस ने प्रतिबिंब ऐप की सहायता से कई साइबर अपराधियों को अपने शिकंजे में कस लिया है ।प्रतिबिंब ऐप एक साल पहले साइबर क्राइम करने वाले आरोपियों को पकड़ने के लिए बनाया गया था और अब इस ऐप की सहायता से साइबर क्राइम करने वालों को पकड़ने में बहुत सहूलत मिल रही है । साइबर ठगो पर शिकंजा कसने के लिए नूहू में दो दिवसीय अभियान चलाया जा रहा है जिसके अंतर्गत साइबर क्राइम पर खास नजर रखी जाएगी तथा साइबर क्राइम करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएंगे।

अलग-अलग जगहों से देते थे क्राइम को अंजाम:

इस दो दिवसीय अभियान के अंतर्गत पुलिस ने अलग-अलग ठिकानों पर जाकर 42 साइबर क्राइम अपराधी को पकड़ा है। सभी के खिलाफ साइबर थाना पुलिस में मुकदमे दर्ज किए गए हैं । सभी फर्जी दस्तावेज के साथ सोशल मीडिया प्रोफाइल,फर्जी बैंक खाता इत्यादि रखते थे जिनके बारे में जानकारी ली गई है। इनके पास से 50 मोबाइल और तकरीबन 90 सिम कार्ड बरामद हुए हैं। यह लोग तमिलनाडु, कर्नाटक, दिल्ली, यूपी आदि राज्यों में साइबर क्राइम को अंजाम देते थे। वहां के भी कई थानों में इन लोगों के खिलाफ मुकदमे दर्ज हैं।

साइबर क्राइम में दिख रही है लगातार बढ़ोतरी:

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पिछले कई समय से साइबर क्राइम में लगातार बढ़ोतरी हो रही थी जो एक चिंताजनक विषय है। इसलिए पुलिस ने पिछले साल लॉन्च किए गए प्रतिबिंब ऐप की सहायता से साइबर क्राइम अपराधियों को पकड़ने की मुहिम चलाई । नूह पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बिजारणिया और डीजीपी शत्रु जीत कपूर ने निर्देश दिए जिनके आधार पर शनिवार रविवार को दो दिवसीय साइबर क्राइम अभियान चलाया गया। जिसमें जिले के अधिकारी और साइबर थाना पुलिस के अलग-अलग अधिकारी ने कई ठिकानों पर जाकर छापेमारी की और अपराधियों को धर दबोचा। इन अपराधियों के नाम सरफराज, आरिफ, आसिफ, राज़ुद्दीन, दीन मोहम्मद, साकिब, इजारिन, मुनाजिर आदि बताई जा रहे हैं। इनमें से कुछ अपराधी अलग-अलग राज्यों के हैं।

ऐसे देते थे ठगी को अंजाम:

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी धोखाधड़ी करने के लिए फर्जी सिम का इस्तेमाल करते थे तथा गाड़ियां बेचने के नाम पर ठगी करते थे । लोगों से बिजनेस के मामले में एडवांस रकम लेने की धोखाधड़ी, फर्जी मीडिया प्रोफाइल बनाकर लोगों से धोखाधड़ी, फर्जी दस्तावेज बनाने के नाम पर, फर्जी पासपोर्ट, आईडी बनाने के नाम पर लोगों से ठगी किया करते थे । यह अपने मीडिया प्रोफाइल पर सस्ते विज्ञापन देकर वाहनों के खरीदने बेचने के नाम पर भी लोगो को अपने झांसे में ले लेते थे।

प्रतिबिंब ऐप से मिली सहायता:

इस प्रकार के साइबर क्राइम लगातार बढ़ने के बाद पुलिस ने इनके खिलाफ सख्त कदम उठाया और प्रतिबिंब ऐप की सहायता से एक मुहिम चलाई ।जिसमें साइबर क्राइम को कम करना तथा साइबर क्राइम अपराधियों को पकड़ा जाना था। इसके बाद पुलिस ने अपनी जानकारी के अनुसार अलग-अलग ठिकानों पर छापामारी की और साइबर क्राइम अपराधियों को पकड़ा। साइबर एसएचओ विमल कुमार के अनुसार यह ऑपरेशन देर शाम तक चला। आरोपियों की संख्या लगभग 50 तक बताई जा रही है। दूसरे राज्यों के पुलिस को भी इन साइबर क्राइम अपराधियों की सूचना दिला रही है क्योंकि इनमें से कुछ अपराधी दूसरे राज्यों से भी हैं। नुहू जिला साइबर क्राइम का गढ़ बनता जा रहा था मगर प्रतिबिंब की सहायता से साइबर अपराधियों को पकड़ने में सफलता प्राप्त हुई है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *