दिल्ली में रहने वाले हाजी सालीम कुरैशी के घर पर हुए एक हादसे में उनकी दो बेटियों की दम घुटने की वजह से मौत हो गई। मंगलवार को घर में आग लगने की वजह से घबराहट के चलते उनकी दोनों बेटियों ने गुलआसना (15) या अनाया (13) वर्षीय ने खुद को कमरे के बाथरूम में बंद कर लिया और दम घुटने के कारण उन दोनों की मौत हो गई।

Delhi News: घर में आग लगने की वजह से दो बच्चियों की दम घुटने से मौत

दिल्ली में रहने वाले हाजी सालीम कुरैशी के घर पर हुए एक हादसे में उनकी दो बेटियों की दम घुटने की वजह से मौत हो गई। मंगलवार को घर में आग लगने की वजह से घबराहट के चलते उनकी दोनों बेटियों ने गुलआसना (15) या अनाया (13) वर्षीय ने खुद को कमरे के बाथरूम में बंद कर लिया और दम घुटने के कारण उन दोनों की मौत हो गई।

आग लगने के समय बेटियां अपने पिता से फोन पर बात कर रही थी तथा उन्हें यह कह रही थी कि “पापा हमें बचा लो हमारा दम घुट रहा है” यही उन दोनों बच्चियों के आखिरी शब्द थे।
परिजनों ने बताया कि घर में जिस वक्त आग लगी उसे वक्त दोनों बहने अपने कमरे में सो रही थी और आग लगने की वजह से उन्होंने घबराहट के चलते खुद को बाथरूम में बंद कर लिया और बाथरूम के अंदर दम घुटने की वजह से उनकी मौत हो गई उस वक्त उनके पिता लखनऊ में थे।

घरवालों के दबाव में आने के कारण सदर थाना प्रभारी एसीपी हीरालाल ने सब्जी मंडी मोर्चरी में दोनों बहनों का पोस्टमार्टम करवाया तथा उसके बाद शव परिजनों को सौंप दिया। दोनों बच्चियों का दर्शन मंगलवार को होने वाला था मगर कुछ रिश्तेदारों के दूर रहने की वजह से उनका सुपुर्द ए खाक नही हो सका और बुधवार को सुबह 10:00 बजे दोनों बच्चियों को कब्रिस्तान में दफना दिया गया। कब्रिस्तान में हजारों लोग उस समय मौजूद थे तथा सभी की आंखें नम थी।

लगी रही लोगों की भीड़ रात भर

दिल्ली के कुरैश नगर में मंगलवार को शायद ही कोई सोया होगा। रात भर सलीम कुरैशी के घर के बाहर भीड़ लगी रही ।लोगों सांत्वना देने के लिए आते रहे। दूर दराज के लोग बुधवार की सुबह तक वहां पहुंचे, जिन लोगों के आने के बाद दोनों बच्चियों को दफनाया गया । हादसे के बाद परिजनों का बुरा हाल है इसलिए उनके रिश्तेदार और दोस्त लगातार उन्हें सांत्वना देने की कोशिश कर रहे हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *