घोड़ा

पूरे एशिया के सबसे बड़े पशु मेले सोनपुर में लगते है, बिहार के सोनपुर शहर में पूरे एशिया का सबसे बड़ा पशु मेला लगता है। हर साल यहां के घोड़े देश भर में चर्चा का विषय बनते हैं। इस बार यहां आया एक घोड़ा रॉकेट की स्पीड से दौड़ता है। यह जीरो से 5 सेकंड में 45 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ता है।

घोड़े का नाम रॉकेट है। अपनी पलक झपकाने के बाद इस घोड़े को आप देख नहीं पाएंगे। इस घोड़े की खासियत ऐसी है करोड़ रुपये में भी इसका मालिक इसको बेचने के लिए तैयार नहीं है।

रॉकेट के दौड़ने पर धूल का गुबार तक नजर नहीं आता
इस घोड़े के दौड़ने पर धूल का गुबार तक नजर नहीं आता है। सुनने को मिलती है तो सिर्फ घोड़े के टापों की आवाज। घोड़े का मालिक हरेराम मुखिया भोजपुर जिले का रहने वाला है। हरेराम ने बताया कि उन्होंने चार साल पहले सिंधु बॉर्डर से घोड़े को खरीदा था। बिहार, यूपी, झारखंड समेत बंगाल तक में इस घोड़े की प्रजाति नहीं है।

अपको बता दे , इनका कहना है वे रॉकेट को मेले में बेचने नहीं, बल्कि प्रदर्शनी के लिए लेकर आए हैं। पूरे मेले में जोर-शोर से रॉकेट घोड़े को लेकर चर्चा हो रही है। रॉकेट को खरीदने के लिए बिहार नहीं, बल्कि यूपी और झारखंड से लोग लग्जरी वाहनों से आ रहे हैं।

महीने में 45 हजार लगता है खुराक में

घोड़े के मालिक का कहना है कि दिन में दो बार रॉकेट खाता है। प्रतिमाह इस घोड़े का खुराक 45 हजार रुपए का है। रॉकेट को काजू, बादाम, पिस्ता और प्रतिदिन 5 लीटर दूध पिलाया जाता है। यानी एक दिन में घोड़ा 1500 रुपये का खुराक खाता है। इसकी ताकत का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि अब तक विभिन्न प्रतियोगिताओं में रॉकेट चार महंगी बाइक जीत चुका है।

घोड़ा

अपको बता दे, घोड़े के मालिक हरेराम मुखिया ने बताया कि रॉकेट की रफ्तार ने उनका दिल जीत लिया है, इसलिए वह इसको एक करोड़ रुपये में भी नहीं बेचेंगे। बता दें कोरोना के कारण दो साल बाद 2022 में यह मेला लगा है। इसमें हरियाणा और पंजाब के साथ राजस्थान के घोड़े आए हैं। कारोबारियों के मुताबिक इस बार मेले में अब तक 15 हजार घोड़े आए हैं। इनमें 10 हजार से लेकर करोड़ रुपये तक के घोड़े हैं।

Author

By Pankit Goyal

Pankit Goyal Is The Senior Editor Of Express Khabar. He Write & Reviews News Of Express Khabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *