गुरुग्राम :- नेशनल हाईवे फॉर इलेक्ट्रिक व्हीकल द्वारा दिल्ली- जयपुर हाईवे पर इलेक्ट्रिक वाहनों का विधिवत रूप से ट्रायल प्रारंभ कर दिया गया है. नेशनल हाईवे पर वाहन पहले से भी तेज रफ्तार से दौड़ सकेंगे. दिल्ली में इंडिया गेट से 4 बसों को व 6 कारों को NHEV के प्रोजेक्ट डायरेक्टर अभिजीत सिन्हा ने झंडी दिखाकर रवाना किया है. इस हाइवे पर ट्रायल सफल होने के बाद, इसे स्थाई रूप से आम जनता के लिए शुरू कर दिया जाएगा.

इन परेशानियों का निकाला जाएगा हल

जानकारी के मुताबिक, जाम में फंसने के दौरान क्या समस्याएं आ सकती है, बारिश के दौरान किन परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, इन सभी सवालों के जवाब ट्रायल के दौरान ही खोजे जाएगे. आने वाले समय में दिल्ली- आगरा और दिल्ली- जयपुर हाईवे एक ई -हाईवे के रूप में विलय कर दिए जाएंगे. जिसके बाद यह दुनिया का सबसे लंबा ई -हाईवे कहलायेगा. फिलहाल जर्मनी के बर्लिन में 109 किलोमीटर का सबसे लंबा ई- हाईवे मोज़ूद है.

इस हाईवे पर तेजी से दौड़ लगाएगे वाहन

दिल्ली- जयपुर हाईवे पर इलेक्ट्रिक वाहनों को दौड़ाने की योजना बनाई गई है. इस योजना को अमलीजामा पहनाने की दिशा में शुक्रवार को दिल्ली- जयपुर हाईवे पर इलेक्ट्रिक वाहनों का ट्रायल शुरू कर दिया गया है. इस Highway पर 278 किलोमीटर के ट्रायल तक बसें और कारे चलाई जाएगी. यहां 4 चार्जिंग स्टेशन बनाए गए हैं, योजना के तहत यहां पर कुल 12 Charging Station बनाए जाने हैं.

सरकार दे रही है इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा

बता दें की वही लोगों को इलेक्ट्रिक व्हीकल की खरीद पर भी 30% की छूट प्रदान की जाएगी. प्रदूषण की समस्या से निजात पाने के लिए ही सरकार की तरफ से बड़े पैमाने पर इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दिया जा रहा है. NHEV के प्रोजेक्ट डायरेक्टर अभिजीत सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि दिल्ली- जयपुर हाईवे से पहले दिल्ली- आगरा हाईवे पर इलेक्ट्रिक वाहनों का ट्रायल किया गया था. ट्रायल के बाद इलेक्ट्रिक Highway बनाने का रास्ता साफ हो जाएगा, जो भी कमियां आएंगे उन्हें भी साथ- साथ पूरा करने की कोशिश की जाएगी.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.