केंद्र सरकार ने डायबिटीज के मरीजों के लिए सस्ती दर पर मेडिसिन को मार्केट में लॉन्च कर दिया है. इस मेडिसिन का नाम Sitagliptin है. इसके 10 गोलियों के पत्तों की कीमत 60 रुपये रखी गयी हैं. इस दवा की बिक्री जेनेरिक फार्मेसी स्टोर जन-औषधि केंद्रों पर की जाएगी.

ब्रांडेड दवाओं से 60 से 70 प्रतिशत कम

जानकारी के मुताबिक, रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय के अनुसार भारतीय औषधि और चिकित्सा उपकरण ब्यूरो (पीएमबीआई) ने जन औषधि केंद्रों पर Sitagliptin और इसके नए एडिशंस को उपलब्ध करवाना शुरू कर दिया है. Sitagliptin फॉस्फेट की 50 मिलीग्राम की दस गोलियों के पैकेट का अधिकतम खुदरा मूल्य 60 रुपये है और 100 मिलीग्राम की गोलियों का पैकेट 100 रुपये का निश्चित किया गया है.बता दें की बयान के मुताबिक इस मेडिसिन के सभी प्रकार के दाम ब्रांडेड दवाओं से 60 से 70 प्रतिशत कम हैं. ब्रांडेड दवाओं की कीमत 160 रुपये से लेकर 258 रुपये तक होती है.

2045 तक 13.50 करोड़ लोग डायबिटीज के शिकार

7 करोड़ से ज्यादा मरीज: इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च-इंडिया (ICMR-INDIA) की एक रिपोर्ट के मुताबिक वर्तमान में 7.40 करोड़ लोग डायबिटीज का शिकार है. वहीं, 8 करोड़ लोग प्री-डायबिटिक हैं. प्री-डायबिटिक मरीज बहुत तेजी से डायबिटीज में परिवर्तित हो रहे हैं. अनुमान है कि भारत में 2045 तक 13.50 करोड़ लोग डायबिटीज के शिकार हों जाएंगे.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.