खेल जगत :- श्रीलंका ने दुबई में खेले गए खिताबी मुकाबले में 23 रन के अंतर से जीत अपने नाम की. एशिया कप 2022 में श्रीलंका की टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल में पाकिस्तान को हराकर चैंपियन बन गयी. इस टूर्नामेंट की शुरुआत से पहले श्रीलंका का प्रदर्शन कुछ हट के नहीं था और इस टीम को खिताब का असली दावेदार नहीं माना जा रहा था. भारत और पाकिस्तान के अलावा अफगानिस्तान को तीसरे सबसे मजबूत टीम का ही दर्जा दिया गया था और पहले मैच में कुछ ऐसा ही हुआ, अफगानिस्तान ने श्रीलंका को हरा दिया था.

श्रीलंका के एक के बाद एक जीत

इस हार के बाद श्रीलंका की किस्मत और तेवर दोनों में बदलाव आ गया. अगले मैच में श्रीलंका ने बांग्लादेश को हराकर सुपर चार में जगह बनाई. यहां फिर अफगानिस्तान से सामना हुआ और इस बार श्रीलंका ने पिछली हार का बदला पूरा कर लिया. अगले मैच में श्रीलंका का मुकाबला भारत से हुआ. टीम इंडिया की जीत तय ही मानी जा रही थी, लेकिन इस टूर्नामेंट का सबसे बड़ा उलटफेर करते हुए श्रीलंका ने भारत को हराकर फाइनल में अपनी जगह बना ली. अगले मैच में फिर से पाकिस्तान को हरा दिया.

चेन्नई की जीत से मिली प्रेरणा

बता दें की इस मैच में श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 170 रन अपने नाम किए थे. भानुका राजपक्षे ने सबसे ज्यादा 71 और वनिंदु हसरंगा ने 36 रन बनाए. इसके जवाब में पाकिस्तान की टीम 147 रन ही बना सकी. मोहम्मद रिजवान ने 55 और इप्तिखार अहमद ने 32 रन की पारी खेलकर आउट हुए. श्रीलंका के लिए प्रमोद मदुशन ने चार और वनिंदू हसरंगा ने तीन विकेट लिए.

मैच के बाद श्रीलंका के कप्तान दासुन शनाका ने जानकारी देते हुए बताया कि साल 2021 में आईपीएल फाइनल मैच में चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए जीत अपने नाम की थी. ऐसे में उनकी टीम भी लक्ष्य का बचाव करते हुए ही जीत हासिल कर सकती थी. सभी खिलाड़ियों को खुद पर विश्वास था और इसी वजह से टीम यह मैच जीत सकी है.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.