लखनऊ :- इन्वेस्टर समिट जैसे कार्यक्रम और भी बड़े स्तर पर किये जा सकेंगे. इसके लिए लखनऊ विकास प्राधिकरण (लविप्रा) की सीजी सिटी में खाली प्लासियो माल के पीछे स्थित जमीन को चिन्हित कर लिया गया है. सुलतानपुर रोड पर स्थित सीजी सिटी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सपनों को साकार करने वाला विश्वस्तरीय कन्वेंशन सेंटर का निर्माण किया जाएगा. यह ऐसा केंद्र होगा कि जहां विदेशी मेहमानों की मेजबानी भी हो सकेगी.

अनेक सुविधाओं से ओत-प्रोत

जानकारी के मुताबिक, इस 35 एकड़ विश्वस्तरीय कन्वेंशन सेंटर से आउटर रिंग रोड और ग्रीन कारिडोर से नई रोड को जोड़ा जाएगा, ताकि कन्वेंशन सेंटर तक पहुंचने के लिए कई मार्ग हों और ट्रैफिक समस्या कई दशकों तक न सामने ना आए. इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान से कई मायने में यह बेहतर होगा. एक समय में दर्जनों सेशन हालों में चल सकेंगे. खुला क्षेत्र इतना बड़ा होगा कि हजारों लोग संबोधन आसानी से सुन सकेगें. मूलभूत सुविधाओं से लैस होने के साथ ही पार्किंग की क्षमता चार पहिया वाहनों की एक हजार से भी अधिक निश्चित की जाएगी. इसके लिए भूमिगत पार्किंग का निर्माण कई तल तक किया जाएगा. इसके ऊपर हाल प्रस्तावित किये गए है. लविप्रा इसको लेकर पूरी कार्ययोजना जल्द बना लेगा और फिर इसका शासन स्तर पर प्रजेंटेशन होने के बाद प्रोजेक्ट को अंतिम रूप दिया जायेगा.

शहीद पथ करेगा सेतु के रूप में कार्य

बता दें की यह कंवेशन सेंटर पांच सितारा होटल की तर्ज पर बनाया जाएगा. भविष्य में मेट्रो की कनेक्टिविटी एयरपोर्ट से की जा सकेगी, वहीं एयरपोर्ट से कन्वेशन सेंटर तक पहुंचने के लिए शहीद पथ सेतु के रूप में कार्य करेंगा. वीवीआइपी गतिविधियों के लिए हैलीपेड भी बनाया जायेगा. लक्ष्य यह सुनिश्चित किया गया है कि दिल्ली व अन्य राज्यों से आने वाले हेलीकाप्टर भी सीधे यहीं लैंड कर सकें.

सबसे वीआइपी क्षेत्र सीजी सिटी

बता दें की लखनऊ में सबसे खुला और आधुनिक सुविधाओं से लैस सीजी सिटी टाउनशिप है. यहां प्राइवेट बिल्डर होने के साथ ही मेदांता अस्पताल, एचसीएल, अमूल व पराग दूध के प्लांट, विश्वस्तरीय कैंसर अस्पताल, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और एशिया का सबसे बड़ा माल होने के साथ ही इकाना स्पोर्ट्स सिटी भी बनाई जा रही है.

जानकारी के मुताबिक, शहीद पथ स्थित प्लासियो माल के पीछे लविप्रा की जमीन है, जो सीजी सिटी के अंतर्गत आता है. वहीं वर्तमान की जरूरतों को देखते हुए ही कंवेंशन सेंटर बनाया जाएगा. जरूरत पड़ने पर जमीन का दायरा औऱ भी बढ़ाया जा सकता है.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.