अब त्योहारी सीजन को लेकर जो अनुमान लगाए जा रहे हैं वो आपकी चिंता को और भी बढ़ा सकते है. दरअसल बिजनेस एक्सपर्ट का मानना है कि त्योहारी सीजन में महंगाई और बढ़ने की संभावना है. इससे लोगों को अपनी जेबें और भी ढीली करनी पड़ सकती है. भारत में सितंबर-अक्टूबर का महीना ही त्योहारी सीजन होता है. इस दौरान दुर्गा पूजा, दीपावली, छठ सहित कई त्योहारें आते है. इसलिए पर्व-त्योहार में लोगों का खर्च भी बढ़ जाता है. जिसमें घर का बजट गड़बड़ा सा जाता है.

महंगाई दर 7 फीसदी से ऊपर पहुंचने की आशंका

जानकारी के मुताबिक, सर्वे में शामिल 45 अर्थशास्त्रियों ने खुदरा महंगाई के 6.3 फीसदी से लेकर 7.37 फीसदी तक रहने का अनुमान लगाया है. इनमें एक चौथाई का मानना है कि महंगाई दर 7 फीसदी से ऊपर तक जाएगी. ऐसे में त्योहारी सीजन में खुदरा महंगाई दर बढ़ने का अनुमान है. एक्सपर्ट का कहना है कि इस महंगाई से बचने के लिए लोगों को पहले से तैयार रहने की आवश्यकता है.

मई से अभी तक 1.4 फीसदी बढ़ी नीतिगत ब्याज दर

बता दें की इधर महंगाई पर काबू पाने के लिए आरबीआई इस साल मई से लेकर अब तक नीतिगत ब्याज दरों में 1.4 फीसदी की बढ़ोतरी कर चुका है. अर्थशास्त्रियों का कहना है कि महंगाई दर स्थिर रहने पर त्योहारी सीजन को देखते हुए आरबीआई नरम रवैया भी अपना सकता है. अनुमान लगाया जा रहा है कि अगर महंगाई अनुमान से तेज बढ़ती है तो केंद्रीय बैंक दरों को लेकर और भी सख्त रुख अपना सकती हैं. यदि ऐसा हुआ तो ईएमआई का बोझ भी बढ़ जायेगा.

दूध की कीमत बढ़ने से डेयरी प्रोडक्ट हुए महंगे

जानकारी के मुताबिक, किये गए सर्वें की माने तो खाद्य पद्वार्थों की कीमतें बढ़नी शुरू भी हो गई है. बीते दिनों दूध की कीमत में बढ़ोतरी के बाद सभी डेयरी प्रोडक्ट में महंगाई देखी गई है. इधर अर्थशास्त्रियों का कहना है कि अगस्त खाद्य कीमतों में तेज वृद्धि देखने को मिली है. बढ़ती गर्मी से आपूर्ति पर असर पड़ा है, जिससे अनाज, दालों और सब्जियों की कीमतों में तेज उछाल देखने को मिला है.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.