बरेली में सेतु निगम (Bridge Corporation) ने करीब सौ करोड़ की लागत से 1300 मीटर लंबी पुल का प्रस्ताव शासन को भेज दिया है. इस पुल को साल के अंत तक मंजूरी मिलने की उम्मीद जताई जा रही है. बरेली में बदहाल किला पुल (Qila Bridge) की हालत को देखते हुए ही प्रशासन ने नया पुल बनाने का फैसला लिया है. पुल के नया बनने से दिल्ली जाने वाले वाहनों को काफी सहूलियत मिल जाएगी.

जल्द ही धन की स्वीकृति

बता दें की रविवार को शहर पहुंचे पीडब्ल्यूडी मंत्री जितिन प्रसाद (Jitin Prasad) ने सुभाषनगर पुल (Subhashnagar Bridge) के लिए जल्द ही धन की स्वीकृति देनी की सहमति जताई है. सांसद संतोष गंगवार (Santosh Gangwar), कैंट विधायक संजीव अग्रवाल, महापौर डा. उमेश गौतम ने इसको लेकर पीडल्ब्यूडी मंत्री के समक्ष भी इस विषय को उठाया गया था.

इसी वर्ष स्वीकृति मिलने की उम्मीद

बता दें की करीब 70 वर्ष पुराना बना किला पुल अब इतिहास बन जाएगा. लगातार जर्जर होती स्थिति को देखते हुए ही सेतु निगम ने सर्वे करवाकर जल्दी मरम्मत कराने के लिए लोक निर्माण विभाग को पत्र लिखा था. मरम्मत नहीं होने से पुल की हालत बिगड़ती ही जा रही है. पुल की मरम्मत नहीं किये जाने पर अब सेतु निगम ने करीब 1300 मीटर लंबा पुल बनाने का प्रस्ताव बनाकर शासन को भेज दिया है. सेतु निगम के डीपीएम वीके सेन ने जानकारी देते हुए बताया कि शहर के बदहाल पुल को देखते हुए नया प्रस्ताव भेजा गया है, जिसकी इसी वर्ष स्वीकृति मिलने की उम्मीद है.

कुतुबखाना ओवरब्रिज का निर्माण इसी सप्ताह से शुरू

दूसरी ओर, स्मार्ट सिटी परियोजना के अनुसार बनने वाली बहुप्रतीक्षित कुतुबखाना ओवरब्रिज (Qutubkhana Overbridge) का निर्माण इसी सप्ताह से शुरू हो जाएगा. इसके लिए स्मार्ट सिटी (Smart city) द्वारा अनुबंध की सारी प्रक्रिया भी पूरी कर ली गई है. अफसरों के अनुसार कार्यदायी संस्था इसी सप्ताह से काम भी शुरू कर देगी.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.