पीडब्ल्यूडी बारापूला एलिवेटेड कॉरिडोर प्रोजेक्ट का तीसरा चरण शुरू हो चुका है. इस चरण में दिल्ली का पहला एक्स्ट्रा डोज पुल बनाने की बात कही गई है. एलिवेटेड पुल को दक्षिणी दिल्ली और पूर्वी दिल्ली के लोगों की परेशानी को देखते हुए बनाया जा रहा है. और इस पुल की खासियत है. यह जमीन से महज 11 मीटर की दूरी पर बनाया जा रहा है मिली जानकारी के अनुसार इस एलिवेटेड पुल पर अक्टूबर महीने में काम शुरू होने की संभावना है. ऐसे में यमुना पर पुल बनाना पीडब्ल्यूडी के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण है. इस आर्टिकल में हम चर्चा करेंगे कि आखिर इस तरह के पुल कैसे बनाए जाते हैं और इनमें किस तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है.

चुनौतीपूर्ण है यमुना पर पुल बनाना

नदियों पर पुल बनाना काफी चुनौतीपूर्ण होता है. पिछले साल देखा गया था जब इसके दूसरे फेज का काम चल रहा था. उस समय यमुना नदी के तेज बहाव के कारण ये झुक गया था लेकिन इस समस्या को देखते हुए इस बार पीडब्ल्यू विभाग पूरी सावधानी बरत रहा है और ऐसी समस्या उत्पन्न ना हो. इसके लिए पीडब्ल्यूडी विभाग ने नदी में 50 मीटर गहरे खंभे खोदे हैं. इसके अलावा कई सारे और पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. इसके साथ ही नीचे कंक्रीट के गोलाकार परत भी बनाई गई हैं. बता दें, पीडब्ल्यूडी बारामूला फेज 3 में अक्टूबर में काम शुरू करने की योजना बना रहा है. बीते दिनों मानसून के कारण काम बंद कर दिया गया था. इस एलिवेटेड कॉरिडोर पर यमुना नदी के किनारे काम चल रहा है.

जानिए कितनी है पुल की लंबाई

बता दें, फेस वन के अंतर्गत सराय काले खां से जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम से लेकर आईएनए 2 और फिर फेज 3 में मयूर विहार को भी कवर किया गया है. इस दूरी को मिलाकर देखें तो यह करीब साढे 3 किलोमीटर के आसपास बैठती है. वहीं बारामुला फेस 1 की टोटल लंबाई के बारे में बात करें तो यह करीब साढे 9 किलोमीटर के आसपास है. पीडब्ल्यूडी विभाग के द्वारा इस पुल को काफी मजबूती के साथ बनाया जा रहा है पीडब्ल्यूडी की कोशिश है कि पहले जो गलती हुई थी उसको एक बार फिर ना दोहराया जाए. एलिवेटेड कॉरिडोर पुल की खास बात है. इसको जमीन से महज 11 मीटर की दूरी पर बनाया जा रहा है.

80 फ़ीसदी बन चुका है एलिवेटेड पुल

बता दें, फेस 3 के अंतर्गत मयूर विहार और सराय काले खां के बीच जो एलिवेटेड पुल बनाया जा रहा है. उसका करीब 80 फ़ीसदी तक काम हो चुका है. बता दें, इस पुल का शिलान्यास साल 2014 में किया गया था. इस पुल के शिलान्यास को 7 साल का वक्त बीत चुका है और 7 साल से ही इस पर काम चल रहा है. वहीं अक्टूबर के महीने में एक बार फिर से फेस 3 में काम शुरू होगा.

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.