दिल्ली सरकार 11 नए अस्पताल बनवा रही है. इन पर तेजी से काम चल रहा है. जब ये अस्पताल बनकर तैयार हो जाएँगे तो इनसे दिल्ली की जनता काफी लाभान्वित होगी. इन अस्पतालों के कारण 10 हजार बिस्तरों की संख्या में इजाफा होगा. जिन अस्पतालों पर तेजी से काम चल रहा है, उनमें से चार में बिस्तरों की संख्या 3237 होगी, जबकि बचे हुए 7 में बिस्तरों की संख्या 6838 होगी. ये बेड आईसीयू फैसिलिटी से लेस बेड होंगे. बात दें, सोमवार यानि 19 सितंबर को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करी. इसके साथ ही सिसोदिया ने पीडब्लूडी विभाग के अधिकारीयों के साथ भी बैठक की.

दिसंबर तक काम पूरा होने की उम्मीद

जिसमें उन्हें आगामी कार्यों को जल्दी जल्दी पूरा करने का का निर्देश दिया. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ हुई बैठक में सिसोदिया ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जिन 11 अस्पतालों पर काम चल रहा है. उस काम में तेजी लाई जाए और जल्दी से जल्दी काम को समाप्त किया जाए. उपमुख्यमंत्री ने सिरसपुर, ज्वालापुरी, मादीपुर, हस्तसाल (विकासपुरी) में बन रहे अस्पतालों को जल्द शुरू करने की बात कही है. उन्होंने कहा इस काम को ईमानदारी और गुणवत्ता के साथ जल्द से जल्द पूरा किया जाए. हमारी सरकार का उद्देश्य दिल्ली के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देना है. वहीं अधिकारियों ने बताया ज्यादातर हॉस्पिटल का काम पूरा हो चुका है. दिसंबर के अंत तक इन सारे अस्पतालों में काम शुरू हो जाएगा और दिसंबर के लास्ट में काम होने के बाद यह अस्पताल लोगों के लिए शुरू कर दिए जाएंगे.

मजबूत हो रहा है इंफ्रास्ट्रक्चर

साथ ही मनीष सिसोदिया ने यह भी बताया कि दिल्ली में पहले से तमाम सरकारी अस्पताल मौजूद हैं लेकिन बढ़ती लोगों की तादाद को देखते हुए दिल्ली सरकार इनका निर्माण करवा रही है. दिल्ली सरकार का उद्देश्य लोगों को बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर और अच्छी स्वास्थ सुविधाएं देने का है. यही वजह है यहां के इंफ्रास्ट्रक्चर को पूरी तरह विश्वसनीय बनाने की कोशिश की जा रही है. इसके साथ ही आपको बता दें, 12 मोहल्ला क्लीनिक पर तेजी से काम चल रहा है. जो जल्द ही दिल्ली की जनता के लिए समर्पित होंगे. उपमुख्यमंत्री सिसौदिया के मुताबिक 52 मोहल्ला क्लीनिक भी दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में बनाए जा रहे हैं. जो बहुत जल्द बनकर तैयार हो जाएंगे. उन्होंने बताया दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिकों में रोजाना 70, 000 से अधिक लोग इलाज कराते हैं और मरीजों को फ्री में दवाएं दी जाती हैं.

Author

By Anshu Pandey

Anshu Pandey Is Edtior Of Expresskhabar.in , Anshu Pandey writing news Of Expresskhabar.in

Leave a Reply

Your email address will not be published.