जब से सीएनजी गैस के दामों में बढ़ोतरी हुई है तब से दिल्ली में ऑटो वालों की मनमानी शुरू हो गई है. ओटो वालों ने किराए में काफी इजाफा कर दिया है और जब इनसे किराया ज्यादा लेने की वजह पूछी जाती है तो वह सीएनजी की कीमतें बढ़ने का हवाला देते हैं. ऐसे में आम यात्री बेहद बहुत परेशान हैं और ऑटो वाले मनमानी किराया वसूल रहे हैं लेकिन अब इसी समस्या को देखते हुए जल्द ही दिल्ली सरकार एक नया प्रस्ताव लेकर आने वाली है. जिसके तहत मनचाहा किराया वसूलने के ऊपर रोक लगेगी. दिल्ली सरकार ने यह रास्ता यात्रियों और ऑटो चालकों के सामंजस्य को देखते हुए खोजा है.

कैबिनेट में आएगा नया प्रस्ताव

सूत्रों के अनुसार जल्द ही दिल्ली सरकार मनमाना किराया वसूलने के ऊपर एक प्रस्ताव लेकर आने वाली है. जानकारी के अनुसार इस मामले से जुड़ी फाइलें पिछले 2 महीने से फाइनेंस विभाग में अधर लटकी हुई है कई बार अधिकारियों को रिमाइंडर भेजा भी गया लेकिन इसके बावजूद भी यह फाइलें आगे की प्रक्रिया के लिए नहीं पहुंच पाई है. ऐसे में आम जनता तो काफी परेशान है ही साथ ही ऑटो वाले भी अपनी परेशानी का हवाला देकर खूब किराया वसूल रहे हैं. इस प्रस्ताव के तहत मनमाना किराया ऑटो वाले भी नहीं वसूल कर पाएंगे और ना ही यात्रियों को ज्यादा पैसा देने की जरूरत होगी.

यात्रियों को हो रही हैं परेशानियां

जनवरी के महीने में सीएनजी गैस के दामों में कई बार उतार-चढ़ाव देखने को मिले थे. ऐसे में ऑटो वालों ने यात्रियों से मनमाना किराया वसूलना शुरू कर दिया और इसके पीछे तर्क देने लगे थे कि सीएनजी के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. वहीं जब कोई यात्री उनसे कहता था कि वह मीटर चालु कर ले तो ऐसे में वह कहते थे कि मीटर से 10 – 20 एक्स्ट्रा देने पड़ेंगे. ऑटोवालों ने कहा कि जो सीएनजी जनवरी से पहले 52 प्रति लीटर मिलती थी अब उसकी कीमत 75 रूपए के आसपास हो चुकी है. जिनसे हमारी आमदनी पर काफी असर पड़ा है. इस मामले के निपटारे के लिए एक कमेटी भी बनाई गई थी जिसने जून के महीने में बैठक की थी लेकिन कोई निष्कर्ष नहीं निकल पाया.

ऑटो वालों की परेशानी का असर आम जनता पर

कमेटी ने उस वक्त कहा था जो वर्तमान समय में मीटर का सबसे कम किराया है. वह 25 रूपए है. इसे बढ़ाकर ₹30 कर दिया जाना चाहिए. वहीं साढे 9.50 रुपए को बढ़ाकर 11 कर दिया जाए. इससे दोनों को राहत मिलेगी वहीं ऑटोवालों का तर्क है कि अगर किराया बढ़ता है तो उन्हें यात्री नहीं मिलेंगे और उनके ऑटो में कोई भी नहीं बैठना चाहेगा. यही वजह है यह सरकार से सब्सिडी की मांग कर रहे हैं. इनका कहना है या तो सरकार उन्हें सस्ते दामों पर सीएनजी उपलब्ध कराए या फिर उन्हें सब्सिडी दे।

Author

By Anshu Pandey

Anshu Pandey Is Edtior Of Expresskhabar.in , Anshu Pandey writing news Of Expresskhabar.in

Leave a Reply

Your email address will not be published.