अगर आप इंडियन रेलवे में सफर करते हैं और आपको किसी वजह से टिकट नहीं मिल पाती है तो चिंता मत करिए इसके लिए इंडियन रेलवे ने एक तरीका खोज निकाला है. इस तरीके की मदद से आप एचएचटी यानि हैंड हेड टर्मिनल के जरिए अपनी टिकट कंफर्म करा सकते हैं. रेलवे के आंकड़ों के अनुसार बीते 4 महीने का डाटा उठाकर देखा जाए तो आप पाएंगे रेलवे ने करीब 7000 ऐसे लोगों को कंफर्म टिकट की सुविधा दी है. जिनकी टिकट पहले से कंफर्म नहीं थी. इंडियन रेलवे के आंकड़ों से पता चलता है. एचएचटी उपकरण आईपैड के साइज के होते हैं. इसके तहत पहले से जो यात्री होते हैं. वह आरक्षण चार्ट में होते हैं लेकिन बात इस प्रक्रिया की करी जाए तो इसके तहत कागजी कार्यवाही को कम कर दिया गया है और पहले जो डाटा कागजों में लिखा जाता था अब वह रियल टाइम अपडेट के लिए इन सर्वर के साथ जुड़ जाएगा.

ऐसे मिलेगा यात्रियों को फायदा

इस प्रक्रिया के तहत मान लीजिए अंतिम समय में कोई आरक्षित सीट वाला यात्री अपनी टिकट को कैंसल नहीं करता है. ऐसे में उस यात्री की खाली सीट एचएचटी पर प्रदर्शित होती है. जिससे टीटीई को यह जानने में काफी सहूलियत होती है कि वेटिंग लिस्ट वाले यात्री व रिजर्वेशन अगेंस्ट कैंसिलेशन यानी आरएसी यात्री को सीट आवंटित करने की उम्मीद बढ़ जाती है. इस संबंध में बातचीत करते हुए एक अधिकारी ने बताया रेलवे के इस फैसले की वजह से सीटों में काफी पारदर्शिता आएगी. एचएचटी के तहत खाली बर्थ की सहायता से ही चेक किया जा सकेगा कि उस यात्री को वास्तव में सीट की जरूरत है कि नहीं.

बीते 4 महीने में 7000 लोगों को मिली ट्रेन टिकट

एचएचटी प्रक्रिया के तहत बीते 4 महीनों में लगभग 7000 लोगों के टिकट कंफर्म किए गए हैं. जिनमें 5448 लोग आरएसी वाले वहीं 2759 प्रतीक्षा सूची के यात्री हैं. मीडिया रिपोर्ट मुताबिक जब से रेलवे ने इस परियोजना को शुरू किया है तब से इसके तहत लोगों को बेहद फायदा हो रहा है. इसके तहत रोजाना 1390 ट्रेनों में टीटीई इस प्रक्रिया के तहत 10745 एचएचटी लेकर जा रहे हैं. इसके अलावा 7000 अप्रयुक्त खाली सीट भी HHT के माध्यम से पीआरएस को प्रतिदिन जारी की जा रही हैं ताकि उन्हें रेलगाड़ियों के मार्ग पर अगले स्टेशन से बुकिंग के लिए उपलब्ध कराया जा सके. आखिर में इंडियन रेलवे का कहना है कि इस तरह की प्रक्रिया को देशभर के रेलवे स्टेशनों पर लागू करने पर विचार कर रहे हैं. जल्द ही इस को पूरे देश के रेलवे स्टेशनों पर लागू कर दिया जाएगा.

Author

By Anshu Pandey

Anshu Pandey Is Edtior Of Expresskhabar.in , Anshu Pandey writing news Of Expresskhabar.in

Leave a Reply

Your email address will not be published.