दिल्ली में अवैध कालोनियों के निर्माण को काफी तेजी से तोड़ा जा रहा है लेकिन अब यह अवैध कालोनियों के निर्माण को तोड़ने का काम ना सिर्फ दिल्ली में बल्कि दिल्ली एनसीआर में भी किया जाएगा. जी हां एनसीआर के 321 कालोनियों को भी तोड़ा जाएगा जो कि अवैध रूप से बनाया गया है. गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ने 321 कालोनियों को अवैध रूप से बना हुआ पाया है जिसके बाद से लोग दिमाग में कई तरह के सवाल आ रहे हैं. क्या सच में 321 कालोनियों को तोड़ दिया जाएगा या नहीं यह सवाल सबके जेहन में बना हुआ हैऔर आगे इस लेख में हम आपके इन्हीं सवालों का जवाब देने वाले हैं.

 

दिल्ली एनसीआर के इन इलाकों के अवैध बिल्डिंग को किया जाएगा ध्वस्त

दरअसल, दिल्ली में अवैध बिल्डिंग निर्माण तथा अवैध कालोनियों के निर्माण का ध्वस्तीकरण काफी तेजी से जारी है. लेकिन इन दिनों खबर यह भी आ रही है कि अब दिल्ली एनसीआर में मौजूद अवैध निर्माण का भी ध्वस्तीकरण किया जाएगा और ऐसे में गाजियाबाद जो कि उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े जिलों में से एक है. यहां पर भी कई अवैध कालोनियां पाई गई हैं. जी हां गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ने 321 कालोनियों को अवैध पाया है. हालांकि बिल्डरों को क्लीन चिट नहीं दी जा सकती है क्योंकि बिल्डर ने अवैध काम को वैध बनाने का तरीका खोज लिया है. गाजियाबाद प्राधिकरण के अधिकारियों का दावा है कि इन कालोनियों के बाद किसी भी तरह का कोई अवैध कॉलोनी का निर्माण नहीं होने देंगे.

 

प्राधिकरण ने जोन में बांट दिया अवैध कालोनियों को

गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ने पूरे जिले को कुल आठ जोन में विभाजित किया है और इसमें से आठवें जोन में सबसे ज्यादा अवैध कालोनियों का निर्माण किया गया है. जी हां जोन 8 में 124 अवैध कालोनियों का निर्माण किया गया है. वही जोन 6 में सबसे कम अवैध कॉलोनी का निर्माण किया गया है. जोन 6 में मात्र एक अवैध कॉलोनी का निर्माण हुआ है. वहीं बात करने अन्य जोनों की तो जोन 1 में 30, जोन 2 में 74, जोन में 39, जोन 4 में 30, जॉन 5 में 16 तथा जोन 7 में 7 अवैध कालोनियों का निर्माण किया गया है.

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.