नई दिल्ली :- केंद्र सरकार के दिए हुए निर्देश पर जेल मैनुएल में बड़ा बदलाव किया गया है. इन बदलावों पर योगी कैबिनेट द्वारा मंगलवार को मुहर लगा दी गयी है. अब कैदी अपने ही खर्च पर सुविधाओं का लाभ उठा पाएंगे. पहले बंदी स्वयं के खर्च से दाढ़ी बनवाते थे, अब इसकी व्यवस्था सार्वजनिक कर दी गई है. कुख्यात अपराधियों को लखनऊ, ललितपुर, नोएडा और आजमगढ़ जेल में रखे जाने का प्रावधान है. इसके अलावा पुराने हथियार की जगह नए हथियार की व्यवस्था भी की गई है. अब राइफल की जगह पिस्टल, इंसास राइफल सहित कई आधुनिक उपकरण प्रदान किए जाएंगे.

लॉकअप व काला पानी की व्यवस्था खत्म

बता दें की लॉकअप की व्यवस्था अब खत्म कर दी गई है. काला पानी की व्यवस्था भी खत्म की जा रही है. ई प्रिजन में भी व्यवस्था ऑनलाइन कर दी गई है. कारागार में जन्मे बच्चे के नियमित टीकाकरण, नामकरण और अन्य व्यवस्थाओं को भी कैबिनेट ने स्वीकृति दी है. कारागार में बंदियों के स्वावलंबन के लिए बेकरी की भी उचित व्यवस्था की जाएगी.

शाम को दिए जाएंगे चाय बिस्कुट

जानकारी के मुताबिक लॉक अप, रजवाड़ो की बंदी, काला पानी, यूरोपीय बंदी आदि व्यवस्था समाप्त कर दी गई है. गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार प्रदान किया जाएगा. जेल में बच्चों की पढ़ाई लिखाई के लिये शिक्षकों की उचित व्यवस्था की जाएगी. चिल्ड्रेन पार्क का निर्माण भी किया जाएगा. शाम को चाय बिस्कुट भी दिए जाएंगे.

जेल में महिलाओं को मंगलसूत्र पहनने की अनुमति

बता दें की जेल में जन्म लेने वाले बच्चों का नामकरण कराया जाएगा. रोजा और व्रत में खजूर और फल भी बंदियों को प्रदान किए जाएंगे. इसके साथ ही महिलाओं को अब मंगलसूत्र पहनने की अनुमति प्राप्त है. इसके साथ ही सलवार सूट भी पहन सकती है.

श्रेणियों में बैरक बांटे जाएंगे

बता दें की जेल के अंदर स्थित बैरकों को श्रेणियों में बांटा जाएगा. श्रेणी ए की कारागार में 2000 कैदियों की संख्या निश्चित की गई है. इसी तरह श्रेणी ख में 2000 से 1500 बंदी होंगे. श्रेणी ग में 1500 से 1000 और घ में 1000 से नीचे के बंदी रखे जाएंगे.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.