दिल्ली-वाराणसी हाई स्पीड रेल कॉरिडोर बनाने का काम तेजी से चल रहा है. इसी रूट पर ही दिल्ली-वाराणसी बुलेट ट्रेन दौड़ा करेंगी. यह पूरा स्ट्रेच 816 किलोमीटर का होगा जिसमें कुल 13 स्टेशन होंगे. इन स्टेशनों में से दिल्ली में एक अंडरग्राउंड और 12 एलिवेटेड स्टेशन उत्तर प्रदेश में होंगे. दिल्ली से चलकर वाराणसी तक चलने वाली बुलेट ट्रेन की स्पीड 330 किमी प्रति घंटा होगी. इतना ही नहीं एक स्टेशन दिल्ली में अंडरग्राउंड का निर्माण जारी है.

बुलेट ट्रेन के होंगे दो स्टॉपेज

नोएडा में बुलेट ट्रेन के दो स्टॉपेज होंगे. दिल्ली-वाराणसी बुलेट ट्रेन दिल्ली के सराय काले खां स्टेशन से रवाना होगी और पहला स्टॉपेज नोएडा सेक्टर-142 में होगा. बुलेट ट्रेन का अगला स्टॉपेज नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास बनाया जायेगा.

कहां तक सफर करेगी बुलेट ट्रेन?

इस तरह सराय काले खां से होते हुए नोएडा के सेक्टर 142 नोएडा एयरपोर्ट के बाद बुलेट ट्रेन मथुरा, आगरा, इटावा, कानपुर, लखनऊ, रायबरेली, प्रतापगढ़, प्रयागराज, भदोही होते हुए वाराणसी तक का सफर तय करा करेगी.

ये होगी बुलेट ट्रेन की रफ्तार

एक्शन प्लान की अगर मानें तो बुलेट ट्रेन की अधिकतम रफ्तार 350 किलोमीटर प्रति घंटा तय की गई है और औसतन रफ्तार 250 किलोमीटर प्रति घंटा तय है. वही बुलेट ट्रेन ट्रैक पर 330 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौरा करेगी. बुलेट ट्रेन से वाराणसी से दिल्ली के बीच जहां अभी ट्रेन से सफर में 10 -12 घंटे लग जाते हैं, वही बुलेट ट्रेन से यह सफर सिर्फ 4 घंटे में ही तय किया जा सकेगा.

एक दिन में दिल्ली से वाराणसी तक लगाएगी 18 फेरे

दिल्ली वाराणसी बुलेट ट्रेन परियोजना के बाद क्या योजना रहेगी इसकी तैयारी भी कर ली गई है. जानकारी के मुताबिक बुलेट ट्रेन एक दिन में दिल्ली से वाराणसी के बीच 18 फेरे लगाएगी. इसके अलावा दिल्ली से लखनऊ के बीच 43, और दिल्ली से अयोध्या के बीच 11, एवं दिल्ली से आगरा के बीच 63 फेरे लगाएगी. बताया जा रहा है कि वाराणसी दिल्ली बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की लागत लगभग 2.3 करोड रुपए होगी.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.