नई दिल्ली:- ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) तक जाना अब और भी आसान हो जाएगा. एयरपोर्ट को मेट्रो रेल से जोड़ने के लिए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) तैयार किया जा चुका है. दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (Delhi Metro Rail Corporation) द्वारा सोमवार को यमुना विकास प्राधिकरण (Yamuna Development Authority) के अधिकारियों के सामने प्रोजेक्ट को प्रस्तुतीकरण दिया जाएगा. इस बैठक में आगे की रणनीति पर भी फैसला लिया जाएगा.

सितंबर 2024 तक चालू होने से पहले इस रूट पर मेट्रो रेल शुरू करने की तैयारी

DMRC प्राधिकरण को जानकारी देगा कि कैसे नोएडा एयरपोर्ट को मेट्रो रेल की कनेक्टिविटी दी जाएगी. जानकारी के अनुसार नोएडा एयरपोर्ट के सितंबर 2024 तक चालू होने से पहले इस रूट पर मेट्रो रेल शुरू करने की तैयारी की जा रही है.

परियोजना पर करीब 5329 करोड रुपए का निवेश

डीएमआरसी की डीपीआर के मुताबिक, ग्रेटर नोएडा से नॉलेज पार्क-टू से जेवर एयरपोर्ट तक कुल 6 स्टेशन बनाए जाएंगे, जिनमें नॉलेज पार्क-टू, सेक्टर 18, सेक्टर-20, सेक्टर-21, सेक्टर-29 और एयरपोर्ट में स्टेशन बनाया जाएगा. कोरिडोर पर 120 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से आठ डिब्बों वाली मेट्रो दौडा करेंगी. शुरुआत में इस लाइन के लिए 24 कोच निश्चित किए गए हैं. इस परियोजना में 4.18 किलोमीटर लाइन भूमिगत होगी, जबकि 31.26 किलोमीटर एलिवेटेड लाइन का निर्माण किया जाएगा. कॉरिडोर बनाने में 18 महीने का समय लगेगा. इस पूरे कॉरिडोर पर कुल 35.44 मेट्रो स्टेशन बनाए जाएंगे. परियोजना पर करीब 5329 करोड रुपए खर्च किए जाने का अनुमान है.

शासन लगाएगा अंतिम मोहर

प्राधिकरण द्वारा ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क-2 से जेवर तक डीपीआर डीएमआरसी से बनवाई गई है. 24 अगस्त को होने वाली बोर्ड बैठक में इसे प्रस्तुत किया जाएगा. बोर्ड के अनुमति के बाद इसे शासन को भेज दिया जाएगा. शासन स्तर से परियोजना की लागत को किस तरह पूरा किया जाएगा, यह वही निश्चित किया जाएगा.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.