नई दिल्ली :- Delhi Revenue Department द्वारा स्टैंप पेपर की ऑनलाइन खरीदारी योजना को आरंभ किया जा चुका है. 10 से लेकर ₹500 तक के स्टैंप पेपर की ऑनलाइन खरीदारी की जा सकती है. इसके बाद राजस्व विभाग द्वारा संपत्तियों की रजिस्ट्री में ₹10 हजार से भी अधिक राशि के स्टांप शुल्क की ऑनलाइन खरीदारी की सुविधा देने पर भी विचार किया जा रहा है. जिससे कि भविष्य में अधिक राशि वाले स्टाम्प पेपर भी ऑनलाइन खरीदे जा सकते हैं. इसमें भुगतान भी ऑनलाइन ही किया जाएगा. संपत्ति पंजीकरण की प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए ही यह योजना शुरू की जा रही है.

राजधानी में रोजाना 1200 से भी अधिक संपत्तियों का पंजीकरण

जानकारी के मुताबिक सरकार द्वारा मंजूरी देने पर विभाग के प्रस्ताव को जल्द ही लागू कर दिया जाएगा. फिलहाल 500 के बाद ₹1 भी अधिक हो जाता है तो बैंक से स्टांप पेपर मिल जाता है, ₹10 से लेकर ₹500 के स्टांप पेपर ऑनलाइन मिल जाते हैं लाइसेंस वाले लोग ही इन्हें ऑनलाइन ले सकते है. यह लाइसेंस भविष्य में भी वैध रहेगा. सूत्रों की अगर मानें तो राजधानी में रोजाना 1200 से भी अधिक संपत्तियों का पंजीकरण होता है.

राजधानी में रोजाना 50 हजार से भी अधिक लोग खरीदते हैं स्टांप पेपर

राजस्व विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि अभी इस व्यवस्था का निर्माण इस तरह से किया गया है कि ऑनलाइन खरीदारी करने वाले स्टांप पेपर का दुरुपयोग नहीं कर पाए. राष्ट्रीय राजधानी में रोजाना 50 हजार से भी अधिक लोग स्टांप पेपर खरीदते हैं, लेकिन इसमें 98 प्रतिशत लोग ऐसे भी हैं जो ₹10 से लेकर 10000 तक के स्टांप पेपर को खरीद लेते हैं.

पूर्ण रूप से सुरक्षित बनाने पर चर्चा

बता दें कि इस व्यवस्था को बड़े स्टांप शुल्क के लिए लागू करने से पहले सुरक्षा को लेकर सभी पहलुओं को बारीकी से देखा जा रहा है, क्योंकि इसे पूर्ण रूप से सुरक्षित बनाया जाना है, ताकि किसी तरह की कोई भी समस्या उत्पन्न ना हो. इसे लेकर अधिकारिक स्तर पर चर्चा भी की जा चुकी है.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.