नई दिल्ली :- पेट्रोल—डीजल की आसमान छूती कीमतों को देखकर इलेक्ट्रिक वाहन के प्रति लोगों का रुझान तेजी से बढ़ गया है. देश में बीते दो साल में इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने वालों की संख्या में काफी तेजी से वृद्धि हुई है. पेट्रोल डीजल के साथ-साथ सीएनजी के दाम भी बेतहाशा बढ़ गए. समस्या यह बन गई कि दिल्ली से सटे हुए गुरुग्राम में सीएनजी के दाम प्रति किलो डीजल की कीमत से भी अधिक हो गए है.

बता दें कि आने वाला समय इलेक्ट्रिक वाहनों का होगा. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि एक अगले 1 साल के दौरान इलेक्ट्रिक व्हीकल की कीमत पेट्रोल वाहनों के बराबर ही हो जाएगी.

इलेक्ट्रिक वाहन से खर्च आएगा बेहद कम

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के अनुसार, अगर कोई वाहन मालिक फिलहाल पेट्रोल पर 100 रुपये खर्च कर रहा हैं तो इलेक्ट्रिक वाहन को चलाने में यह लागत घटकर 10 रुपये भी आ जाएगी. कुल मिलाकर इलेक्ट्रिक वाहन चलाने में 10 गुना कम खर्च ही आएगा. वहीं, इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार भी लगातार प्रयास कर रही है.

सीएनजी की कीमत 80 रुपये प्रति किलोग्राम

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर में ज्यादा इलाकों में सीएनजी की कीमत 80 रुपये प्रति किलोग्राम के आसपास बताई जा रही है. वहीं, गुरुग्राम और रेवाड़ी में सीएनजी के दाम सबसे अधिक हैं. ऐसे में अब इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने में ही फायदा है, क्योंकि पेट्रोल और डीजल के दामों में कमी आने के आसार बेहद कम ही नजर आ रहे हैं.

1 रुपये प्रत‍ि क‍िमी से भी कम का खर्च आने की संभावना

बता दें की नितिन गडकरी का कहना है कि ग्रीन हाइड्रोजन से चलने वाली कार से चलने पर 1 रुपये प्रत‍ि क‍िमी से भी कम का खर्च आने की संभावना है. वहीं, इसके उलट पेट्रोल पर चलने वाली कार का खर्च 5-7 रुपये प्रत‍ि क‍िमी आता है. इस पर भी तेजी से कार्य किया जा रहा है.

सीएनजी के दामों में भी बढ़ोतरी

बता दे कि पेट्रोल और डीजल के दामों में पिछले दो-तीन साल के दौरान 30% से भी अधिक बढ़ोतरी हो गई है. पेट्रोल और डीजल से वाहन चलाना अब बहुत खर्चीला हो गया है. इसके चलते लोग सीएनजी में अपने वाहनों को कन्वर्ट करवा रहे हैं और अब सीएनजी के दाम भी बढ़ रहे हैं.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.