नई दिल्ली :- वाहन चालक अक्सर ट्रैफिक या जाम के समय ज्यादा हॉर्न का उपयोग करते रहते है. जिससे की बहुत से लोगों को समस्या होती है क्योकि लोग बहुत फ्री होकर हॉर्न को बजाते है जो बहुत बार बहस या झगडे का कारण भी बन जाता है. इसी के चलते हॉर्न का ज्यादा इस्तेमाल करने पर अब चालान कटना शुरू हो जायेगा. इसको लेकर दिल्ली यातायात पुलिस अब बेहद सख्त हो गई है. प्रेशर होरन का उपयोग करने पर जुर्माना लगाने का ऐलान करने के साथ ही दिल्ली पुलिस द्वारा एक स्लोगन भी दिया गया है – Delhi Mein Shor Nahi.

10,000 से लेकर 12,000 रुपए तक का चालान

बता दें कि मोटर व्हीकल एक्ट नियम 39/192 के अनुसार मोटरसाइकिल, कार या अन्य किसी भी तरह के वाहन चलाने के दौरान अगर आप प्रेशर हॉर्न बजायेंगे तो आपका 10000 से लेकर 12000 रुपए तक का चालान कट सकता है. साथ ही अगर आप साइलेंस जोन में हॉर्न का उपयोग करते है तो आपको नियम 194F के अनुसार आपका 2000 रुपए के चालान का भुगतना पड़ सकता है.

दंडित करने के लिए एक विशेष अभियान की शुरुआत

जानकारी के मुताबिक, लोग वाहनों में प्रेशर हॉर्न और मॉडिफाइड साइलेंसर का इस्तेमाल करते हैं, उन्हें दंडित करने के लिए एक विशेष अभियान की शुरुआत की गई है. दिल्ली यातायात पुलिस द्वारा ट्विटर पर भी लोगों को इस अभियान के बारे में जानकारी प्रदान की गई है. हालांकि पुलिसकर्मी पहले भी ऐसे अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे थे, लेकिन अब फोकस और भी बढ़ाया जाएगा. ऐसे लोगों के खिलाफ सख्ती बरती जाएगी.

रोक लगाने से होंगे अनेक फायदे

नियमों के अनुसार शहर के भीड़भाड़ और शांत क्षेत्र में प्रेशर हॉर्न बजाने पर प्रतिबंध लगाया गया है. बावजूद इसके चालको को नियम कानून से कोई मतलब ही नहीं है. शांत क्षेत्र में अस्पताल, सार्वजनिक मंदिर, अदालत, शिक्षण संस्थाएं या अन्य पूजा स्थल और ऐसे सार्वजनिक स्थान भी आते हैं. इसी तरह जहां हर समय काफी भीड़ रहती है वहां अधिक शोर मचाने पर रोक लगाई गई है.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.