नई दिल्ली :- अगर आपका खाली प्लॉट है और नगर निगम के एरिया क्षेत्र में आता है तो आपको हाउस टैक्स देना पड़ेगा. प्रदेश सरकार की नई हाउस टैक्स नीति अगर आपका खाली प्लॉट है और नगर निगम के एरिया क्षेत्र में आता है तो आपको हाउस टैक्स देना पड़ेगा. प्रदेश सरकार की नई हाउस टैक्स नीति केे तहत खाली पड़ी बिल्डिंगों व खाली पड़े प्लॉटों के मालिकों से हाउस टैक्स वसूला जाएगा. सौ गज से बड़े खाली प्लाटों को संपत्ति कर के दायरे में लाने के लिए निगम के जोन अधिकारियों द्वारा सर्वे शुरू कर दिया गया है. इसके लिए सभी जोन अधिकारियों को निगम आयुक्त की ओर से आदेश भी जारी कर दिए गए हैं. जिन संपत्ति मालिकों ने टैक्स नहीं जमा कराया है उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश है.

हाउस टैक्स में मिलने वाली छूट को भी घटाया

बता दें की निगम के सभी 12 जोन में हाउस टैक्स की दरें अब समान्य कर दी गई हैं. इसके अलावा पहले जो 15 फीसदी की छूट मिलती थी उसे घटाकर 10 फीसदी कर दिया गया है. एकीकृत होने के बाद से ही निगम ने राजस्व बढ़ाने के मकसद से एक शहर एक टैक्स की नीति पर काम करना शुरू कर दिया है.

अब तक ऐसे 120 प्लॉट चिह्नित, प्रक्रिया जारी

जानकारी के मुताबिक, आदेश जारी होने के बाद सभी अधिकारियों ने अपने-अपने जोन में ऐसी इमारतों और प्लॉटों का सर्वे करना शुरू कर दिया है. अब तक के सर्वे में 120 खाली प्लॉटों को टैक्स न जमा कराने वाली सूची में शामिल भी कर लिया गया है. अधिकारियों ने कहा कि कई प्लॉट ऐसे हैं जिन्हें लोगों ने कूड़ाघर बना के रखा है. उन्होंने कहा कि ऐसे प्लॉटों के मालिकों को हाउस टैक्स विभाग की ओर से और स्वास्थ्य विभाग की ओर से नोटिस जारी किए जाएंगे.

अधिकारियों को दिए जल्द सर्वे करने के निर्देश

जानकारी के मुताबिक, हाउस टैक्स विभाग के सूत्रों ने बताया कि निगम आयुक्त ज्ञानेश भारती की ओर से कुछ दिन पहले ही एक आदेश जारी किया गया था. आदेश में अधिकारियों से कहा गया था की अधिकार क्षेत्र में आने वाले जो खाली प्लॉट या फ्लैट किसी कारणवश हाउस टैक्स जमा कराने के दायरे से बाहर हैं तो जल्द से जल्द उनका सर्वे कराकर उनके मालिकों से टैक्स वसूला किया जाए.

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.