नयी दिल्ली:- 24 अगस्त दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि 2025 तक राजधानी में चलने वाली 10,000 से अधिक बसों में से 80 प्रतिशत इलेक्ट्रिक होंगी, जिससे दिल्ली देश में सबसे अधिक ई-बसों वाला शहर कहलायेगा.

केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार ने दिल्ली में विश्व स्तरीय शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा मॉडल विकसित किए हैं, अब दिल्ली के परिवहन क्षेत्र में बदलाव कर इसे दुनिया के समक्ष एक मॉडल के तौर पर पेश करने का समय आ गया है.

यह एक ऐतिहासिक क्षण

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने भी ये कहा कि यह एक ऐतिहासिक क्षण है और इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना करना उन लोगों के लिए करारा जवाब होगा जो कह रहे थे कि दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) बंद हो जाएगा.

सितंबर तक 50 और ई-बसों को बेड़े में शामिल

बता दें की मुख्यमंत्री ने कहा, 1500 बसों के लिए पहले ही ऑर्डर दिया जा चुका है जिन्हें नवंबर-दिसंबर तक शामिल कर लिया जाएगा. दिल्ली में इस समय 153 ई-बसें चलाई जा रही हैं और आज की बसों के बाद इन बसों की संख्या 250 हो जाएगी. उन्होंने कहा कि सितंबर तक 50 और ई-बसों को बेड़े में शामिल कर लिया जाएगा.

2023 तक दिल्ली की सड़कों पर करीब 1800 ई बसें चलने की संभावना

जानकारी के मुताबिक, केजरीवाल ने कहा कि नवंबर 2023 तक दिल्ली की सड़कों पर करीब 1800 ई बसें चलने की संभावना है. मुख्यमंत्री ने कहा, जिस तरह हमने शिक्षा और स्वास्थ्य के मामले में दिल्ली को विश्वस्तरीय मॉडल बनाया है, वैसे ही शहर को दुनिया में परिवहन का मॉडल भी प्रस्तुत करेंगे.

नोट:- यह एक काल्पनिक तस्वीर है ।

By Kajal

Leave a Reply

Your email address will not be published.