रेलवे के तरफ से एक जरूरी सूचना, कृपया ध्यान दे, गोरखपुर से चलने वाली वंदे भारत जो की लखनऊ से होते हुए प्रयागराज तक जाएगी ,इस ट्रेन को चलाने के लिए एनई और एनसी रेलवे ने शेड्यूल तैयार कर प्रस्ताव बोर्ड को भेज दिया गया है।ऐसा कहा जा रहा है की जल्द ही इस प्रस्ताव पर बोर्ड मोहर लगा देने की संभावना है।

बता दे की सप्ताह में छह दिन चलने वाली वंदे भारत गोरखपुर से अपराह्न तीन बजे रवाना होगी और शाम को 7.20 बजे लखनऊ पहुंचेगी। इसके बाद लखनऊ से प्रस्थान कर रात 10.50 बजे प्रयागराज पहुंचेगी। वापसी में प्रयागराज से यह ट्रेन सुबह 6.20 बजे प्रस्थान कर सुबह 9.50 बजे लखनऊ पहुंचेगी। यहां से प्रस्थान करने के बाद अपराह्न 2.20 बजे वंदे भारत गोरखपुर पहुंचेगी। बहरहाल बोर्ड से निर्देश मिलने के बाद यात्री वंदे भारत को लेकर काफी उत्साहित हैं।

# कैसी रहेगी ट्रेन की कोच

जानकारी हेतु बता दे की ट्रेन के कोच वातानुकूलित चेयर कार हैं जिनमें दो बैठने के विकल्प दिए गए हैं। इकॉनमी और एग्जीक्यूटिव क्लास। खासियत यह है कि एग्जीक्यूटिव क्लास में रिवॉल्विंग चेयर है जो 180 डिग्री तक मुड़ सकती है। वंदे भारत में प्रदान की जाने वाली सबसे महत्वपूर्ण सुविधाओं में से एक यह है कि इसके दरवाजे मेट्रो की भांति ही आटोमेटिक खुलते हैं। वहीं, वंदे भारत में इंटरनेट की सेवाओं का उपयोग करने के लिए ऑनबोर्ड वाई-फाई की सुविधा है। इसके अलावा, मोबाइल फोन या टैबलेट पर कुछ पढ़ने के लिए इंटरनेट का उपयोग कर पाएंगे।

# ये है ट्रेन चलने का समय

: प्रयागराज से सुबह 6.20 बजे प्रस्थान, दोपहर 2.20 बजे गोरखपुर पहुंचेगी
: दोनों मुख्यालयों ने बोर्ड को भेजा प्रस्ताव, सप्ताह में छह दिन है ट्रेन चलाने की तैयारी
: 7.20 बजे लखनऊ से प्रस्थान कर रात 10.50 बजे प्रयागराज पहुंचेगी

# शेड्यूल

प्रयागराज-लखनऊ-गोरखपुर
प्रयागराज से प्रस्थान-सुबह 6.20 बजे
लखनऊ आगमन-सुबह 9.50 बजे
गोरखपुर आगमन-दोपहर 2.20 बजे
प्रस्तावित स्टापेज-रायबरेली, बस्ती
गोरखपुर-लखनऊ-प्रयागराज
गोरखपुर से प्रस्थान-अपराह्न 3 बजे
लखनऊ आगमन-रात 7.15 बजे
प्रयागराज आगमन-रात 10.50 बजे
प्रस्तावित स्टापेज-रायबरेली, बस्ती

ऐसी रहेगी इस ट्रेन की विशेषताएं

:मोबाइल या लैपटॉप को आसानी से चार्ज करने के लिए कोच की हर सीट पर सॉकेट उपलब्ध कराए गए हैं
: डिब्बों के बीच के गैप को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। यह बाहरी शोर को कम करने में मदद करता है।
: ट्रेन को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि यात्री ड्राइवर की केबिन तक की झलक देख सकें
: सामान को रखने के लिए प्रत्येक कोच में मॉड्यूलर रैक हैं। इससे स्पेस की दिक्कत नहीं होती है।
: पैंट्री में भोजन और पेय पदार्थों को गर्म और ठंडा करने के लिए बेहतर गुणवत्ता के उपकरण भी दिए गए हैं

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.