एक जरूरी सूचना :-  आप भी अगर डेबिट एंड क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते है तो सावधान हो जाए। बिना पासवर्ड बताए भी पैसे हो सकते है गायब, शहर लखनऊ में ऐसे कई मामले मिले है। ऐसे में wi fi वाले एटीएम को में कार्ड को एल्यूमीनियम फाइल पेपर में लपेटकर रखें।आपको अपनी सावधानी खुद ही करनी होगी।

आपकी जानकारी के लिए आपको बता दे की आप बिलकुल सावधान हो जाएं, जालसाज आपके आस-पास ही घूम रहे हैं। यदि आप उन लोगों में से एक हैं जिनके पास वाई-फाई वाला क्रेडिट या डेबिट कार्ड है तो आपको सतर्क रहने की जरूरत है, क्योंकि वाई-फाई कार्ड के साथ खतरा यह है कि बिना पिन डाले आपके बैंक खाते से कम से कम दो हजार रुपये निकाले जा सकते हैं। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि यदि आपके पास ऐसा क्रेडिट या डेबिट कार्ड है तो साइबर क्राइम से कैसे बच पाएंगे।

गुप्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार साइबर क्राइम एक्सपर्ट दीपक का कहना है , वाई-फाई वाले एटीएम को एल्यूमीनियम फाइल पेपर में लपेटकर रखें या फिर इसे बचाने के लिए आप मेटल वालेट का इस्तेमाल कर सकते हैं। क्योंकि इन दिनों बिना पिन इस्तेमाल किए ही पीओएस मशीन से दो हजार रुपये निकाले जाने के मामले सामने आ रहे हैं। उदाहरण यह है की यदि आपकी जेब में वाई-फाई क्रेडिट-डेबिट कार्ड है तो ठग आपकी जेब में पीओएस मशीन टच करके पैसे निकाल सकते हैं।जो की बहुत बड़ा खतरा है सभी के लिए।

इन सारे कार्ड की रेंज चार सेंटीमीटर है। कार्ड को भले ही वाई-फाई क्रेडिट-डेबिट कहा जाता है, लेकिन वाई-फाई के जरिए काम नहीं करता है यह कार्ड। ऐसे कार्ड एनएफसी (नियर फिल्ड कम्यूनिकेशन) और आरएफआइडी (रेडियो फ्रिकवेंसी आइडेंटिफिकेशन) टेक्नोलाजी पर काम करते हैं।

: कैसे मिलती है इनको फ्रीक्वेंसी

इन कार्डो में एक चिप होता है जो बहुत ही पतले एक मेटल एंटीना से जुड़ा रहता है। इसी एंटीने के जरिए पीओएस मशीन को सिग्नल मिलता है और पीओएस मशीन से रेडियो फ्रिकवेंसी फिल्ड के जरिए इलेक्ट्रिसिटी मिलते ही आपके खाते से रुपये कट जाते हैं।और पैसे आपको प्राप्त होते है।

: कैसे बच सकते है इन साजिशो से

सूत्रों के अनुसार di gyi जानकारी से पता चला की साइबर क्राइम सेल इंस्पेक्टर रणजीत राय ने बताया है, किसी होटल या दुकान में पेमेंट करते समय कार्ड दुकानदार के हाथ में न दें। अपने सामने स्वैप कराएं और ट्रांजेक्शन के बाद आने वाले मैसेज को उसी दौरान चेक करें। यदि आपके पास ऐसा कार्ड है तो उन्हें एल्यूमीनियम फाइल पेपर में लपेटकर रखें या फिर इसे बचाने के लिए आप मेटल वालेट का इस्तेमाल करें। दो हजार की रकम काम नही होता है। बाजार में आरएफआइडी ब्लाकिंग वालेट भी मिलता है जिनका आप इस्तेमाल कर सकते हैं।

ऐसे केस काफी मिल रहे है ,यह दो केस आपके सामने है

केस 1:
वृंदावन कालोनी में घनश्याम रहते हैं उनका कहना है कि डेबिट कार्ड का किसी भी रूप में इस्तेमाल नहीं किया, लेकिन खाते से दो हजार रुपये निकल गए। पीड़ित ने साइबर क्राइम सेल कार्यालय में शिकायत की है।

केस 2ः
आइटी कंपनी में कार्यरत सूर्यकांत ने बताया कि वह शापिंग के लिए गए थे। उन्होंने वाई-फाई वाले कार्ड की जगह सामान्य एटीएम का इस्तेमाल किया था। इसके बावजूद उनके वाई-फाई वाले क्रेडिट कार्ड से दो हजार निकलने का मैसेज आया है।सावधान और सतर्कता से काम करे, और यह न्यूज जितना हो सके फैलाए, लोगो को सतर्क करे और खुद भी सावधान रहे।

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.