रेलवे ने अपने नियमो में कुछ बदलाव किये हैं जिसमे टीटीई खुद नहीं देंगे बर्थ, यात्री नहीं पहुंचे तो कैंसिल, अगले स्टेशन से वेटिंग टिकट कन्फर्म, टीटीई स्मार्ट होंगे, आनॅलाइन ही टीटीई टिकट कैंसिल कर देंगे। उस स्थिति में अगले स्टेशन पर जिस यात्री का टिकट वेटिंग हाेगा। ऑटोमेटिक ही रेलवे सर्वर के माध्यम से आईआरसीटीसी सर्वर से वेटिंग कंफर्म हाेगा। यात्री काे कंफर्मेशन का मैसेज चला जाएगा। हेडक्वार्टर में बैठे अधिकारी टीटीई पर नजर रख सकेंगे, टीटीई को ट्रेनिंग दी जा रही है, जल्द शुरू होगी सुविधा। एक सप्ताह में रांची रेल डिवीजन की कुछ ट्रेनाें में बड़ा बदलाव हाेने जा रहा है। क्योंकि अब टीटीई टिकट चेकिंग कागजी चार्ट से नहीं बल्कि आनॅलाइन हैंड हेल्ड टर्मिनल मशीन से करेंगे। दपूरे की जीएम अर्चना जोशी ने बताया कि रांची रेल डिवीजन काे हैंड हेल्ड की 60 मशीन दी गई हैं। दक्षिण पूर्व रेलवे हेडक्वार्टर में इसको चलाने के लिए टीटीई काे मास्टर ट्रेनिंग दिया गया है। इसके बाद रांची कमर्शियल विभाग द्वारा हैंड हेल्ड मशीन चलाने का प्रशिक्षण चलाया जा रहा है। यह मशीन सीधे रेलवे के सर्वर से कनेक्ट होगा।

रांची राजधानी-शताब्दी में टिकट चेकिंग अब हैंड हेल्ड टर्मिनल मशीन से हाेगी। टीटीई काे प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। जल्द ही यह सुविधा यात्रियाें काे देखने काे मिलेगी। -निशांत कुमार, सीनियर डीसीएम कम CPRO RANCHI टीटीई अब ड्यूटी से गायब भी नहीं रह पाएंगे। यह मशीन टीटीई के ड्यूटी पर रहने के साथ उनकी पोजीशन की भी जानकारी देगा। हेडक्वार्टर में बैठे अधिकारी टीटीई पर भी नजर रख सकेंगे। वहीं टीटीई काे चार्ट के बाेझ से छुटकारा मिलेगा। वहीं अब चाहकर भी टीटीई बर्थ काे नहीं बेच पाएंगे। क्योंकि अब बर्थ आनॅलाइन ही चेकिंग या कैंसिल हाेगा। ऐसे  में खाली बर्थ काे दूसरे यात्रियों काे नहीं दे पाएंगे।

इसमें एक सिम लगा रहेगा, जिसके जरिए आनॅलाइन टिकट चेकिंग से लेकर कैंसिलेशन तक का काम हाेगा। फिलहाल इस मशीन के अपग्रेडेशन का काम चल रहा है। उम्मीद जताई गई है कि एक सप्ताह इसको शुरू कर दिया जाएगा। सबसे पहले ची-दिल्ली राजधानी और  रांची-हावड़ा शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन में शुरू किया जाएगा। उसके बाद सभी ट्रेनाें में टीटीई काे हैंड हेल्ड मशीन दी जाएगी। ऑनलाइन  सुविधा हाेने से रेलवे के पास एक-एक बर्थ का हिसाब रहेगा। हैंड हेल्ड टर्मिनल मशीन से टिकट चेकिंग के दाैरान एक-एक बर्थ का कंफर्मेशन दर्ज हाेगा। जाे बर्थ खाली रहेगी या जिस बर्थ पर यात्री टर्नअप नहीं हाेंगे। उसे आनॅलाइन ही टीटीई टिकट कैंसिल कर देंगे। उस स्थिति में अगले स्टेशन पर जिस यात्री का टिकट वेटिंग हाेगा। ऑटोमेटिक ही रेलवे सर्वर के माध्यम से आईआरसीटीसी सर्वर से वेटिंग कंफर्म हाेगा। यात्री काे कंफर्मेशन का मैसेज चला जाएगा।

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.