यूपी राज्य के हर जिले में है कोई न कोई जरिया रोजगार देने का ठीक वैसे ही आया है नया scheme OTOP  का ।अधिकांश तहसीलें भी विशिष्ट उत्पाद के लिए जानी जाती हैं। चाहे घोसी तहसील के गोठा कस्बे का गुड़ हो या हरदोई के संडीला का लड्डू। ये सब को ध्यान में रखते हुए सीएम योगी ने एक जिला एक उत्पाद (ODOP) के द्वारा एक तहसील ,एक उत्पाद(OTOP) योजना की भी शुरुवात कर दी है। इस स्कीम के द्वारा सरकार का लक्ष्य है हर घर रोजगार और कारोबार पहुंच सके।

यूपी जैसे बड़े राज्यों में वैसे भी कोई तहसील या कस्बा किसी न किसी उत्पाद के लिए जाना जाता है । (ODOP) योजना की सफलता देखते हुए सरकार ने ये निर्णय लिया है की अब (OTOP) एक तहसील एक उत्पाद की योजना लाने का निश्चय किया है। इन उत्पादों की पैकेजिंग, डिजाइनिंग, ब्रांडिंग, मार्केटिंग, जरूरत के अनुसार पूंजी की उपलब्धता और इनसे जुड़े लोगों के कौशल को निखारने के लिए प्रशिक्षण आदि की सुविधाएं दी जाएं तो इनकी भी संभावनाएं ओडीओपी की तरह ही बढ़ जाएंगी।

समय के साथ साथ ये राज्य से देश और देश से विदेश तक जाएंगी और एक दिन नौकरी की खोज के लिए बाहर जाने की जरूरत नही पड़ेगी।मुख्यमंत्री की पक्के लक्ष्य के अनुसार एमएसएमई विभाग इस दिशा में काम करने जा रहा है। पहले चरण में जिले के स्थानीय प्रशासन से मिलकर तहसीलवार ऐसे उत्पादों की सूची तैयार की जााएगी।इन सब पर ज़मीनी स्तर पर काम करने के लिए अलग से लोगो का ग्रुप तैयार किया जाएगा सरकार द्वारा।

ODOP ने बहुत लोगो को रोजगार दिए और आज भी कई लोगो का चूल्हा इन्ही पर निर्भर है। लोगो के कहना है की 2014में लॉन्च हुई ये स्कीम ने बहुत लोगो का घर बचाया है , इसी उम्मीद और मंशा से सरकार से नया स्कीम निकाला है, आशाओं और उम्मीदों के साथ की एक दिन नौकरी के लिए देश छोड़ना नहीं पड़ेगा बल्कि विदेश से लोग यह काम करने आएंगे।

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.