यूपी के नोइड में पतंजलि ने यमुना प्राधिकरण को बकाया 231 करोड़ रुपए का भुगतान कर दिया है। साथ ही वर्क प्लान भी पेश किया है। इसके साथ ही अब 2017 से ही लंबित फूड पार्क के जल्द आकार लेने की उम्मीद है। सूत्रों के मुताबिक, जुलाई से इस पर काम शुरू हो सकता है। पतंजलि यहां 6000 करोड़ रुपए निवेश करने जा रही है। जानकारी के मुताबिक, पतंजलि ग्रुप यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे सेक्टर 24 और 24A में एक फूड पार्क और एक आयुर्वेदिक पार्क का निर्माण करने जा रही है. जबकि दूसरे चरण में पतंजलि एक बड़ा विश्वविद्यालय स्थापित करेगी. पतंजलि ग्रुप के लिए यमुना विकास प्राधिकरण की ओर से 430 एकड़ जमीन आवंटित की गई थी. जिसमें करीब 300 एकड़ जमीन पर फूड पार्क बनाया जाएगा और 130 एकड़ जमीन में आयुर्वेद पार्क स्थापित किए जाने की योजना है.

गौरतलब यह है कि पतंजलि ग्रुप का यह प्रोजेक्ट जेवर एयरपोर्ट के बेहद नजदीक है. जानकारी के मुताबिक, पतंजलि ग्रुप 5 साल में इन प्रोजेक्ट को पूरा करेगी. उत्तर प्रदेश सरकार ने 2018 में पतंजलि को सब्सिडी प्रदान करते हुए इस प्रोजेक्ट की मंजूरी दी थी. इस इकाई के शुरू होने से यहां करीब 30 हजार लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है. पतंजलि आयुर्वेद से जुड़े इस प्रोजेक्ट में 937 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. इस फैक्ट्री में हर्बल उत्पाद बनाए जाएंगे. पतंजलि ने यमुना प्राधिकरण से सेक्टर 24 में फूड पार्क और पतंजलि आयुर्वेद के लिए 430 एकड़ जमीन आवंटित कराई है। यहां चारदीवारी किए जाने के बाद आगे का काम रुका हुआ था। पतंजलि को 2017 में जमीन का आवंटन हुआ था। 300 एकड़ में पतंजलि के आयुर्वेदिक उत्पादों का निर्माण होगा तो 130 एकड़ में मेगा फूड पार्क बनेगा।

पतंजिल के इस फूड पार्क से आसपास के जिले के किसानों को भी फायदा मिलेगा। फूड पार्क और आयुर्वेदिक उत्पादों के निर्माण के लिए कंपनी किसानों से उनकी फसल की खरीद करेगी। इसके अलावा रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। पतंजलि की आयुर्वेद इकाई में 39 एकड़ एरिया खुला होगा. 13 एकड़ में इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित होंगे. 13 एकड़ में वेयर हाउस व कोल्ड स्टोरेज और 65 एकड़ में मैनुफैक्चरिंग प्लांट लगेगा. कंपनी हर्बल उत्पाद में हैंडवॉश, फ्रूट कैंडी, एलोवेरा, टूथपेस्ट, ब्राह्मी, गिलोय, केसर, मुलेठी, शैंपू, ग्रीन टी, सिरप, शिशु केयर आदि बनाएगी. कॉस्मेटिक उत्पाद भी बनाए जाएंगे. सरकार का यह मानना है कि यह फूड पार्क बड़ा निवेश लाएगा और रोजगार के अवसर पैदा करेगा. इसी के साथ उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और राजस्थान के किसानों को लाभ भी मिलेगा. इस प्रोजेक्ट में फल, सब्जी, औषधियों को प्रॉसेस करके खाद्य सामग्रियां और दवाएं तैयार की जाएंगी.

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.