उत्तर रेलवे महाप्रबंधक आशुतोष गंगल मंगलवार को कोटद्वार से गजरौला तक निरीक्षण करने के बाद मुरादाबाद पहुंचे और पत्रकारों के वार्ता करते हुए कहा कि जुलाई में हरिद्वार से कांवड़ की भीड़ चलना शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि रेलवे और राज्य सरकार के बीच इस बात को लेकर बैठक हो चुकी है और राज्य सरकार ने स्पेशल ट्रेन चलाई जाने की मांग की है। लेकिन, रेलवे ने स्पेशल ट्रेन चलाने के लिए हरिद्वार में अतिरिक्त कोच उपलब्ध करा दिए हैं। उन्होंने जानकारी दी स्पेशल ट्रेन चलाने के लिए अपर मंडल रेल प्रबंधक ए-एन सिंह को नोडल अधिकारी बनाया गया है। आपको बता दें कि राज्य सरकार के द्वारा स्पेशल ट्रेन चलाए जाने की मांग होने के बाद रेलवे ने तय किया है कि वह कांवरियों के लिए स्पेशल ट्रेन चलाएगा और इसके लिए कोच भी उपलब्ध करा दी गई है।17 जुलाई से प्रारंभ हो रहे विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले में श्रद्धालुओं एवं यात्रियों की बढ़ती भीड़ के मद्देनजर रेलवे ने गोरखपुर व देवघर के बीच मेला स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। रेलवे बोर्ड से मंजूरी के बाद इस ट्रेन के परिचालन की अधिसूचना जारी कर दी गई है। यह ट्रेन गोरखपुर और देवघर के बीच अप और डाउन में 62 फेरे लगाएगी। 31 फेरे अप में तथा 31 फेरे डाउन में लगाएगी।

स्पेशल ट्रेन गोरखपुर से 15 जुलाई से 14 अगस्त तक देवघर से 16 जुलाई से 15 अगस्त तक डेली चलेगी। 17 कोच वाली स्पेशल ट्रेन डीजल इंजन से चलेगी। इसका प्राइमरी मेंटेनेंस गोरखपुर में होगा। यह ट्रेन देवघर और गोरखपुर के बीच 28 स्टेशनों को पार करेगी लेकिन इसका स्टॉपेज 26 प्रमुख स्टेशनों पर दिया गया है । देवघर से ये ट्रेन 05009 नंबर से तथा गोरखपुर से 05010 नंबर के रूप में चलेगी । देवघर से ट्रेन 16 जुलाई को खुलेगी। पूर्वोत्तर रेलवे ने विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला में पहुंचने वाले कांवरियों को सफर के लिए ये सौगात दी है। मेला को लेकर गोरखपुर से मुंगेर, भागलपुर और बांका के रास्ते देवघर के लिए मेला स्पेशल चलेगी। मेला स्पेशल का परिचालन गोरखपुर से 15 जुलाई से 14 अगस्त और देवघर से 16 जुलाई से 15 अगस्त तक होगा। इसके चलने से यूपी के श्रद्धालुओं के साथ-साथ उत्तर बिहार के कांवरियों को सुल्तानगंज पहुंचने में काफी सहूलियत होगी। बुधवार को रेलवे ने सारिणी जारी कर दी है।

ट्रेन में सफर करने वाले कांवड़ियों की सुरक्षा के लिए आरपीएफ को विशेष निर्देश दिए गए हैं। आपको बता दें कि इस साल कांवड़ भीड़ वाले स्टेशनों पर काफी अलग व्यवस्था होगी और प्रोटोकॉल का पालन सभी कांवरियों को करना होगा। उन्होंने बताया कि हरिद्वार व देहरादून के लिए सुगम ट्रेन संचालन को रुड़की-देवबंद नई रेल मार्ग के लिए जमीन अधिग्रहण कर लिया गया है और इसका निर्माण कार्य भी शुरू कर दिया गया है। अगर यात्रियों की भीड़ लगातार बढ़ जाएगी तो इसके लिए कोचों की संख्या में बढ़ोतरी की जाएगी। बंद चल रहे पैसेंजर ट्रेनों को फिर से चलाया जाएगा।

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.