दिल्ली में प्रदूषण की समस्या आम बात है। प्रदूषण से दिल्ली में हमेशा सभी को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। प्रदूषण की समस्या को देखते हुए दिल्ली सरकार द्वारा एक नई योजना निकाली गई है। दिल्ली सरकार ने सार्वजनिक परिवहन को बढ़ावा देने के लिए एक हजार निजी सीएनजी बसों को किराए पर लेने की योजना बनाई है। अब तक सरकार ने 770 बसें पंजीकृत कर ली है। परिवहन विभाग ने 629 बसों को स्टेज कैरीज के रूप में चलाने के लिए विशेष परमीट भी जारी किया है।

सोमवार को दिल्ली के सड़कों 366 पर्यावरण बसें उतारी गईं। बाकी बसें मंगलवार से चलेंगी। जितना किराया डीटीसी के बसों का होता है उतना ही इन बसों का किराया भी होगा। दिल्ली के सड़कों पर सरकार द्वारा उतारी गई यह बसें डीटीसी के निधारित रूटों पर चलेंगी।

सार्वजनिक वाहनों का प्रयोग कर कम कर सकते हैं प्रदूषण की समस्या

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने जनता से अपने निजी वाहनों को छोड़कर सार्वजनिक वाहनों के उपयोग के लिए अपील की है। जिससे बढ़ते प्रदूषण में कुछ हद तक सुधार लाया जा सके। सरकार इन बसों की संख्या बहाने के प्रयास में जुटी हुई है। मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि एक रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली के अंदर 31 प्रतिशत प्रदूषण दिल्ली के स्नोत से है वहीं 69 प्रतिशत प्रदूषण बाहर के स्नोत से, बात करे दिल्ली के 31 प्रतिशत स्नोत की तो लोग अगर निजी वाहनों का प्रयोग कम करें तो इस प्रदूषण को कम किया जा सकता है। क्योंकि दिल्ली इन दिनों लगभग 50 प्रतिशत वाहनों का प्रदूषण है।

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.