भारतमाला परियोजना के अंतर्गत के शामली जिले को एक और एक्सप्रेस-वे की सौगात मिलने जा रही है। यह ग्रीन फिल्ड एक्सप्रेस-वे शामली को गोरखपुर से जोड़ेगा। यह करीब 700 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेस-वे है। वहीं डीपीआर को तैयार करने के लिए कंसलटेंट एजेंसी नियुक्त कर दी गई है। बता दें कि उत्तर प्रदेश के 22 जिलों की 37 तहसीलों से होकर यह एक्सप्रेस-वे गुजरेगा। शामली-गोरखपुर एक्सप्रेस-वे को करीब 90 से 100 मीटर चौड़ा बनाया जाएगा और यह 700 किलोमीटर लंबा होगा।

गोरखपुर-शामली एक्सप्रेस-वे बनाए जाने की शासन की तरफ से तैयारी शुरूकर दी गई है। साथ ही डीपीआर भी तैयार की जा रही है। इससे संबंधित जिलों के डीएम को इसकी सूचना दी गई है। गोरखपुर-शामली एक्सप्रेस-वे का प्रोजेक्ट भारतमाला परियोजना के तहत तैयार किया जा रहा है। यह एक्सप्रेस वे पंजाब-नॉर्थ ईस्ट कॉरिडोर का हिस्सा है। इस एक्सप्रेस-वे को अंबाला शामली एक्सप्रेस-वे से मिले जाएगा। जी कि करीब को 110 किलोमीटर लम्बा है। जिसकी भूमि अधिग्रहण की कार्रवाई शुरू हो चुकी है। यह अंबाला-शामली एक्सप्रेस-वे 2024 तक बनकर तैयार होगा।

यह एक्सप्रेस-वे बनने के बाद गोरखपुर से शामली तक का सफर काफी आसान हो जाएगा। जहाँ गोरखपुर जाने के लिए दिल्ली होकर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से होकर जाना पड़ता है वहीँ अब इस एक्सप्रेस वे के बाद करीब 200 किलोमीटर का सफर कम हो जाएगा। हलाकि अभी इसकी दूरी 912 किलोमीटर है।

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.