चीन के साथ 2020 में हुई हिंसक झड़प के बाद भारत ने पड़ोसी देश के ऐप पर प्रतिबंध लगाने का जो सिलसिला शुरू किया था उसमें आज 54 नाम और जुड़ गए। सरकार का दावा है कि इन 54 चाइनीज ऐप्स से भारत की सुरक्षा को खतरा था। ये सभी ऐप्स चीन और अन्य देशों में भारतीय यूजर्स का डेटा भेज रहे थे।

सरकार नेआईटी कानून की धारा 69ए के तहत इन ऐप को प्रतिबंधित किया गया है। हालांकि, प्रतिबंधित ऐप्स की नई सूची में ज्यादातर उन ऐप्स के क्लोन शामिल हैं, जो 2020 से भारत में पहले से ही प्रतिबंधित थे। 50 और प्रतिबंधित ऐप्स के साथ, कुल ऐप्स की सूची जो भारत द्वारा प्रतिबंधित है 320 के करीब पहुंच सकता है।

2020 में लद्दाख में एलएसी पर भारत और चीन के बीच तनाव के बाद सबसे पहले टिकटॉक समेत 59 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगा था। भारत ने टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, शेयर इट, हेलो, लाइकी, वी चैट, ब्यूटी प्लस जैसे लोकप्रिय ऐप्स पर बैन लगाया था। इसके बाद सरकार ने 47 मोबाइल ऐप्स पर बैन लगा दिया जिसमें से ज्यादातर या तो पहले से प्रतिबंधित ऐप्स के क्लोन थे या फिर उनसे मिलते-जुलते थे।

सितंबर 2021 में भारत ने 118 और मोबाइल ऐप्स पर बैन लगाया जिसमें लोकप्रिय गेमिंग ऐप पबजी भी शामिल था। इसके अलावा अलावा लिविक, वीचैट वर्क, वीचैट रीडिंग, कैरम फ्रेंड्स, कैमकार्ड जैसे ऐप्स पर बैन लगा। 2020 के बाद से कुल 270 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लग चुका है। लेकिन 2022 में सरकार की तरफ से प्रतिबंधित किए गए ऐप्स की यह पहली खेप है। नए प्रतिबंध में पहले प्रतिबंधित ऐप्स भी शामिल हैं, लेकिन क्लोन के रूप में फिर से सामने आए हैं। इन पर बैन के लिए गूगल प्ले-स्टोर को फरमान भेजा गया है।

14 फरवरी 2022 को 54 एप्स हुए बैन

आज यानी 14 फरवरी 2022 को जिन 54 चाइनीज एप्स पर बैन लगाया गया है उनमें Beauty Camera: Sweet Selfie HD, Beauty Camera – Selfie Camera, Equalizer & Bass Booster, CamCard for SalesForce Ent, Isoland 2: Ashes of Time Lite, Viva Video Editor, Tencent Xriver, Onmyoji Chess, Onmyoji Arena, AppLock, Dual Space Lite जैसे एप्स शामिल हैं।

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.