कोरोना महामारी के चलते पुरे देश के लोगो को मास्क लगाना अनिवार्य था । लकिन अब इसी बिच दिल्ली की जनता के लिए एक रहत भरी खबर सामने आयी है । आज से देश की राजधानी दिल्‍ली में अकेले कार चलाने के दौरान अब लोगों को मास्‍क पहनने की जरूरत नहीं है । उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में हुई दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की अहम बैठक में इस बाबत फैसला हुआ है, जिसके बाद कार में अकेले यात्रा करने पर अब मास्क लगाना अनिवार्य नहीं होगा। अब दिल्ली में बगैर मास्क लगाए निजी कार वाहन चालक सड़कों पर रफ्तार भर सकेंगे। इस फैसलों को दिल्ली-एनसीआर के लाखों चालकों का बड़ी राहत मिली है। काफी पहले से ही लोग भी सवाल उठा रहे थे कि कार में अकेले चलने के दौरान मास्क लगाने का क्या तुक है?

गौरतलब है कि इससे पहले 31 जनवरी को अहम सुनवाई के दौरान दिल्ली हाई कोर्ट ने भी आम आदमी पार्टी सरकार के इस आदेश को और कार चलाने के दौरान मास्क लगाने की बाध्यता को बेतुका बताया था। इसके साथ ही दिल्ली हाई कोर्ट ने डीडीएमए से इस संबंध में पुनर्विचार करने को कहा था।

ऐसे में दिल्‍ली हाईकोर्ट की ओर से इस निर्देश को ‘बेतुका’ बताए जाने के एक हफ्ते के भीतर ही निजी कार वाहन चालकों के लिए यह फैसला आया है। 31 जनवरी को हुई सुनवाई हाईकोर्ट ने पूछा था कि यह निर्देश अभी भी लागू क्‍यों है? कोर्ट की ओर से यह टिप्‍पणी उस समय आई थी जब दिल्‍ली सरकार का प्रतिनिधित्‍व कर रहे एक वकील ने उस घटना के बारे में जानकारी दी थी। इसमें कहा गया था कि अपनी कार में बैठकर मां के साथ काफी पी रहे शख्‍स पर मास्‍क नहीं पहनने के लिए जुर्माना लगाया गया था। इस पर  दिल्ली हाई कोर्ट की ने सख्त टिप्पणी में कहा था यह दिल्‍ली सरकार का आदेश है, आपने इसे वापस क्‍यों नहीं लेते? यह वास्‍तव में बेतुका है। आप अपनी कार में बैठे हैं और आपको मास्‍क पहना चाहिए?

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.