अब आने वाले अगले ही माह से यानी मार्च से ही राजधानी दिल्ली के लोगो को कुछ हद तक जाम से मुक्ति मिलेगा। दिल्ली में दो बडे़ इलाकों को जाम से राहत मिलने की उम्मीद है। इसके साथ अगले महीने से चालू होने जा रही प्रगति मैदान सुरंग सड़क जहां आइटीओ इलाके को जाम से मुक्ति दिलाएगी, वहीं आश्रम अंडरपास के शुरू होने से इंडिया गेट से बदरपुर की ओर आना जाना आसान होगा। इस सुरंग से न केवल दिल्ली के लोगों को राहत मिलेगी, बल्कि एनसीआर के राज्यों यूपी और हरियाणा के लोगों को भी राहत मिलेगी। इससे उनका पैसा और ईंधन दोनों बचेंगे।

 

 

 

लाखों लोगों की ईंधन की होगी बचत:-

प्रगति मैदान सुरंग सड़क 1.2 किलोमीटर लंबी सुरंग सड़क और छह अंडरपास आइटीओ इलाके को जाम से मुक्ति दिलाने वाली योजना के हिस्सा हैं। इसमें चार अंडरपास मथुरा रोड के हैं, जिससे मथुरा रोड पर आइटीओ डब्ल्यू प्वाइंट से डीपीएस स्कूल तक करीब तीन किलामीटर मार्ग सिग्नल फ्री हो जाएगा। इस मार्ग पर छह लालबत्तियां बंद होंगी। एक-एक रिंग रोड और भैरों मार्ग का अंडरपास है। सुरंग सड़क प्रगति मैदान के नीचे जाती है, जो पुराना किला रोड से शुरू होकर प्रगति पावर स्टेशन के पास रिंग रोड पर समाप्त होती है।इस परियोजना से ट्रैफिक जाम से राहत की अधिक उम्मीद है। इस सुरंग के शुरू होने से आइटीओ क्षेत्र में विकास मार्ग पर वाहनों का दबाव कम हो जाएगा।क्योंकि अशोक रोड, मंडी हाउस की ओर से आइटीओ होकर यमुनापार आने जाने वाले वाहन वाहन सुरंग सड़क का उपयोग करेंगे। इससे भैरों मार्ग पर भी यातायात की भीड़ कम होगी। मार्च में दिल्ली के विकास से संबंधित वे परियोजनाएं पूरी हो रही हैं जिनकी दिल्ली की जनता पिछले कई साल से उम्मीद लगाए बैठी है। इससे यातायात जाम से राहत मिलेगी, समय व वाहन के ईंधन की बचत होगी।

दो अंडरपास भी बनकर होगया है तैयार :-

मथुरा रोड के चार अंडरपास में से सुंदर नगर और काका नगर के तैयार हैं। मटकापीर का बचा हुआ काम 15 मार्च पर पूरा होगा और मार्च अंत तक सुप्रीम कोर्ट अंडरपास भी तैयार हो जाएगा।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से इसका उद्घाटन कराए जाने की योजना है।अंडरपास में दीवार पें¨टग का काम भी अब पूरा हो गया है।इसका निर्माण कार्य 2017 में शुरू हुआ था और पहली समय सीमा मार्च 2019 थी।मार्च में आश्रम चौक अंडरपास का काम हो जाएगा पूरा आश्रम चौक अंडरपास का काम भी अब अंतिम चरण में है। इसके शुरू हो जाने से इंडिया गेट से बदरपुर की ओर आने जाने वालों को लाभ मिल सकेगा।दिल्ली के साथ साथ हरियाणा के वाहन चालकों को भी लाभ मिल सकेगा। पहले ही छह समय सीमा से चूकने के बाद आश्रम अंडरपास के अगले महीने खुलने की उम्मीद है। 750 मीटर लंबाई वाले अंडरपास के निर्माण से आश्रम चौक पर भीड़भाड़ कम होने की उम्मीद है।

परियोजना की देखरेख कर रहे पीडब्ल्यूडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मार्च की शुरुआत में अंडरपास को यातायात के लिए खोल दिया जाएगा। अंडरपास की आधारशिला 24 दिसंबर 2019 को रखी गई थी और पहली समय सीमा दिसंबर 2020 निर्धारित की गई थी।

बेनीतो हुआ रेज मार्ग अंडरपास खुलेगा

बेनितो हुआरेज मार्ग पर बन रहा अंडरपास मार्च के अंत तक खोल दिया जाएगा। इस मार्ग से सेंट मार्टिन मार्ग सीधे जा सकेंगे। यहां से अंडरपास में जाने पर सेंट मार्टिन मार्ग और एयरपोर्ट की तरफ रिंग रोड पर भी जा सकेंगे। अंडरपास से एयरपोर्ट की ओर से आने वाले वीआइपी मूवमेंट को रिंग रोड पर राव तुलाराम फ्लाइओवर के नीचे लगने वाली जाम से राहत मिलेगी। एयरपोर्ट की ओर से आकर यहां दाहिने मुड़ने वाला यातायात इस मार्ग से अंडरपास से सेंट मार्टिन मार्ग होते हुए निकल जाएगा। अंडरपास से राव तुलाराम फ्लाइओवर के नीचे के यातायात को भी कम किया जा सकेगा।

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.