दिल्ली : राजधानी दिल्ली से बहार जाने के लिए एक नए रिंग-रोड का निर्माण कार्य सुरु कर दिया गया है जोकि द्वारका, रोहिणी, नरेला होते हुए सहर से बहार जाएगी. इस नए बनने वाले 54 कि.मी का नया रूट दिल्ली की तीसरी रिंग रोड के निर्माण में पहले आर्थिक अड़चन आयी थी जो कि अब दूर हो गयी है।

दिल्ली विकास प्राधिकरण राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के द्वारा इस योजना को 7700 करोड़ रूपये में से 3600 करोड़ रुपये की अंतर निधि राशि दी जाएगी और तो और 1787 करोड़ रुपये शहरी विकास कोष से दी जाएगी जबकि बाकी के पैसे डीडीए द्वारा दिए जाएंगे। इस प्रस्ताव को मंगलवार के दिन उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में हुई डीडीए बोर्ड की बैठक में स्वीकृति दे दी गई है।

वर्ष 2022 से 2023 के वार्षिक बजट को 7,933 करोड़ रुपये के वार्षिक व्यय के साथ मंजूरी दी गई है और 7,943 करोड़ रुपये की खर्च का अनुमान लगाया गया है।

लगाया गया बजट अनुमान (2022-23):

प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्गो को जोड़ने कि वजह से दिल्ली की सड़कों पर यातायात का दबाव बहुत कम हो जाएगी और तो और वायु गुणवत्ता में भी काफी सुधार हो सकता है। अनुमानुसार 2022 से 2023 में नरेला, द्वारका और रोहिणी उपनगरों में सड़क, सीवरेज, जलापूर्ति, बिजली लाइन और जल निकासी सहित भूमि और भौतिक बुनियादी ढांचे के विकास के लिए भी 2,922 करोड़ रुपये के कुल आवंटन का प्रविधान किया गया है।

द्वारका सेक्टर-आठ में सीवेज वाटर ड्रेन के निर्माण के लिए बजट अनुमान 2022-23 में 47.49 करोड़ रुपये का प्रविधान किया गया है ताकि एयरपोर्ट से पानी की निकासी की जा सके।

नोट: यह तस्वीर काल्पनिक है।

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.