Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /home/express1/public_html/wp-content/plugins/og/includes/iworks/class-iworks-opengraph.php on line 331

पुराना सड़ा हुआ कचरा पर्यावरण के लिए नुकसनदेह होता है। लेकिन लखनऊ में अब  वर्षों पुराना सड़ चुका कूड़ा अब पर्यावरण के लिए खतरा नहीं बन पायेगा।  न ही अब इससे भूजल दूषित हो पायेगा और न ही वायु प्रदूषण फैल पायेगा। आपको बता दें की केवल लखनऊ ही नहीं बल्कि  कई शहर इस समस्या से जूझ रहे हैं, लेकिन अब कूड़े के प्रबंधन के लिए कंपनियों का चयन किया गया है जो इसके नुकसान से बचाएगी। योजना में दो नगर निगम झांसी और फिरोजाबाद तथा 11 नगर पालिका परिषद को शामिल किया गया है। लखनऊ के घैला में पहले ही इस पर काम शुरू हो चुका है। इसके लिए चयनित हर शहर में 10 से 15 करोड़ तक का खर्च आएगा। इसकी निगरानी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा की जाएगी।

तो इस प्रकार उपयोगी बनाया जायेगा ये कचरा

  • मिट्टी बन चुके कूड़े का उपयोग भराई में किया जाएगा।
  • पालीथिन सीमेंट बनाने के काम आएगी, जिसे सीमेंट कंपनी को भेजा जाएगा।
  • लोहे व अन्य धातु के साथ ही कांच को गलाकर फिर कोई वस्तु तैयार होगी।

कहां किसे मिला कामः झांसी नगर निगम का काम  मेसर्स दया चरण एंड कंपनी न्यू दिल्ली और जेबी एन्वायरमेंटल टेको को सौंपा गया है जिसकी  लागत कुल 17.15 करोड़ है वही फिरोजाबाद नगर निगम का काम स्पाक सुपर इंफ्रा इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को सौंपा गया है जिसकी लगत 11.13 करोड़ बतायी जा रही है।

 

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.