लखनऊ में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। शहर व गांव के ज्यादातर इलाकों में वायरस का बहुत ज्यादा प्रकोप है। संक्रमण प्रभावित इलाकों को मिनी कनटेंमेंट जोन घोसित किया जा रहा है। मौजूदा समय में लगभग साढ़े आठ हजार कनटेंमेंट जोन बनाए जा चुके हैं। हर रोज लगभग 300 से 400 नए कनटेंमेंट जोन बनाए जा रहे है इस वजह से स्वस्थ विभाग और ज्यादा परेशान होता जा रहा है। लखनऊ में हर रोज लगभग 2500 नए कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं और इस वजह से संक्रमित के संपर्क में आने वाले लोग भी संक्रमित पाए जा रहे हैं। संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए मरीज के घर को मिनी कनटेंमेंट जोन बनाया जा रहा है। ताकि मरीज व उसके संपर्क में आने वाले घर से बाहर न आएं।

दूसरी लहर से दोगुना हो गए कंटेनमेंट जोन

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक शहर में कुल 110 वार्ड हैं। इनमें 99 फीसदी वार्ड में कंटेनमेंट जोन हैं। एक माह से कम समय में कनटेंमेंट जोन बनने का रिकार्ड बन गया है। पहली व दूसरी लहर में भी इतने कम समय में कंटेनमेंट जोन नहीं बने। कोरोना की दूसरी लहर में अप्रैल में अलीगंज व इंदिरानगर अधिक संवेदनशील रहा था। उस दौरान अलीगंज में 723 व इंदिरानगर में 454 कंटेनमेंट जोन बने थे। मौजूदा समय में अलीगंज में करीब 1293 व इंदिरानगर में 993 कंटेनमेंट जोन बन गए हैं। इनकी संख्या लगातार बढ़ रही है। इसके अलावा चिनहट में भी लगभग 1128 कंटेनमेंट जोन बन चुके हैं। इसमें गोमतीनगर, विस्तार और फैजाबाद रोड से सटी कॉलोनियां-मोहल्ले शामिल हैं।

जल्द मिल रही राहत

गुजरे चार दिनों में तेजी से मरीज ठीक हो रहे हैं। लिहाजा कनटेंमेंट जोन की संख्या घट भी रही है। इससे स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली है। अधिकारियों का कहना है कि कंटेनमेंट जोर में स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार राहत कार्य पहुंचा रही है। मरीज व उनके संपर्क में आने वालों की जांच कराई जा रही है। पॉजिटिव आने पर मरीजों को दवाएं बांटी जा रही है। कोविड कमांड सेंटर से मरीजों को फोन कर सेहत की जानकारी ली जा रही है।

Author

  • Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

By Abhishek Raj

Abhishek Raj Is Journalist & Edtior Of Expresskhabar.in , Abhishek Raj writing news, views, reviews and interviews with expresskhabar.in.

Leave a Reply

Your email address will not be published.